उत्तराखंड में बोलेरो कार 400 मीटर गहरी खाई में गिरी, 13 लोगों की हुई मौत

(Photo Credit : twitter.com)

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा मृतकों को 2 लाख तथा घायलों को 50 हजार रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया गया

उत्तराखंड के चकराता में रविवार को एक दर्दनाक हादसा हो गया। हादसा चकराता के सुदूरवर्ती इलाके तुनी रोड पर सुबह करीब 10 बजे हुआ। गंभीर सड़क दुर्घटना में 13 लोगों के मौत की खबर सामने आई है। प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दुर्घटना में मृत्यु को प्राप्त हुये और घायलों को मुआवजे की घोषणा की है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, चकराता के भरम खत के बैला गांव से विकासनगर जा रही बोलेरो रविवार की सुबह बैला-पिंगुआ मार्ग पर गांव के सामने नियंत्रण खो बैठी और 400 मीटर गहरी खाई में गिर गई। मिली जानकारी के अनुसार कार में इस समय 15 लोग सवार थे, जिसमें से 13 लोगों की मौत हो गई और दो गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी 13 मृतकों के शव गड्ढे से मिले हैं। 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे में जान गंवाने वालों के परिवारों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की बात कही है, जबकि  घायलों को 50-50 हजार की सहायता दी जाएगी। मौके पर पुलिस-प्रशासन की टीम मौजूद थी। स्थानीय लोग भी राहत कार्य में लगे रहे। सूचना मिलते ही देहरादून से एसडीआरएफ, जिला पुलिस और दमकल की राहत टीम भी घटनास्थल पर पहुंची।  हादसे में छह साल के बच्चे समेत दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना मिलते ही बैला, बुलहड़, असोई, बागी और आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और खुद बचाव अभियान चलाया और किसी तरह 400 मीटर गहरी खाई में फंसे शवों को बाहर निकाला तथा घायलों को इलाज के लिए चकराता अस्पताल पहुंचाया। 
बैला क्षेत्र पंचायत के सदस्य महेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि मृतकों की पहचान मतबार सिंह (40), पुत्र भगत सिंह, पत्नी रेखा देवी (32) और डेढ़ वर्षीय पुत्री तन्वी रतन सिंह (45) के रूप में हुई है.  पुत्र रतराम, जयपालसिंह चौहान (40) पुत्र भावसिंह, अंजलि (15) पुत्री जयपालसिंह चौहान, नरेश चौहान (35) पुत्र भावसिंह, साधराम (55) पुत्र गुलाबसिंह, दानसिंह (50) पुत्र रतू, ईशा (18) पुत्री गजेन्द्र, काजल (17) पुत्री। समस्त बैला-चक्रों के निवासी जगत वर्मा, कवानु-मलेठा निवासी जीतू (35) और हिमाचल के सिरमौर के पुत्र हरिराम शर्मा (48) का दुर्घटना का शिकार बने थे। 
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी इस पूरी घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है। उन्होंने ईश्वर से प्रार्थना की है कि मृतक की आत्मा को शांति मिले और परिवार को यह दुख सहने की शक्ति मिले। मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन को राहत और बचाव कार्य में तेजी लाने और घायलों को तत्काल इलाज मुहैया कराने के निर्देश दिए हैं।
एसडीएम चकराता सौरभ असवाल ने बताया कि चकराता व तुनी तहसील की राजस्व टीम दुर्घटना की सूचना देने मौके पर पहुंच गई है। देहरादून के डीएम डॉ. आर. राजेश कुमार ने कहा कि एसडीएम और एडीएम मौके पर पहुंचे। देहरादून से डॉक्टरों की टीम भी मौके पर पहुंच गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें