मेडिकल क्षेत्र की बड़ी उपलब्धि, रक्त परीक्षण से पंद्रह मिनट में ठीक होगी दिमाग की समस्या

प्रतीकात्मक तस्वीर

कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में 450 लोगों के एक सर्वेक्षण में सामने आई आशास्पद जानकारी

मेडिकल क्षेत्र में दिल और दिमाग का इलाज सबसे कठिन माना जाता है पर नए शोध के अनुसार यदि मस्तिष्क तक प्रोटीन ले जाने वाली कोशिकाएं मर रही हैं, तो रक्त परीक्षण से पंद्रह मिनट में इसका निदान किया जा सकता है। 

आपको बता दें कि वर्तमान में, मस्तिष्क की समस्याओं का पता लगाने के लिए सीटी स्कैन का उपयोग किया जा रहा है। अब टेस्टिंग के एक नए तरीके से लोगों को जल्द सही इलाज मिल सकता है। परीक्षण के दौरान 90 रोगियों के 64 प्रतिशत में मस्तिष्क की चोट का सफलतापूर्वक निदान किया गया। एक सफल रक्त परीक्षण केवल पंद्रह मिनट में किसी भी आक्रामक निदान करने में मदद कर सकता है।

कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय में 450 लोगों के एक सर्वेक्षण में, रक्त परीक्षण द्वारा 64 प्रतिशत का सही निदान किया गया। इन रोगियों का पहले सीटी स्कैन हुआ, लेकिन रक्त परीक्षण किए गए जो उनकी बीमारी के बारे में स्पष्ट नहीं थे। एक शोध के अनुसार मस्तिष्क को रक्त की आपूर्ति करने वाली कोशिकाओं में आवश्यक प्रोटीन की कमी का भी रक्त परीक्षण के माध्यम से पता लगाया जा सकता है। लगभग दो-तिहाई सिर की चोटों का निदान रक्त परीक्षण से किया जा सकता है। एमआरआई स्कैन के बाद, इन रोगियों को दर्दनाक मस्तिष्क रोग का पता चला था।

ब्रिटेन के अस्पतालों में एक दिन में 400 से अधिक मामले सिर में चोट के आते हैं। उनमें से कुछ को कार दुर्घटना के कारण सिर में चोट लगी और कुछ गिर गए। मस्तिष्क की चोटों के निदान के लिए वर्तमान में सीटी स्कैन का उपयोग किया जा रहा है। डॉक्टरों का मानना ​​है कि सीटी स्कैन में सीमित बीमारियों का ही निदान किया जा रहा है। एक रक्त परीक्षण अब उन बीमारियों का पता लगाएगा जिनका सीटी स्कैन पता नहीं लगा सका। 

(इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है. हालांकि इसकी नैतिक जिम्मेदारी loktej.com की नहीं है. हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें. हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है.)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें