भरूच : अब से रोबोट्स करेंगे भूमिगत गटरों की सफाई

(Photo Credit : gujaratmitra.in)

भरूच शहर में भूमिगत सीवरेज परियोजना निकट भविष्य में साकार होने जा रही है। नगर पालिका को भूमिगत जल निकासी की सफाई के लिए लाखों रुपये के सोलर रोबोट का तोहफा मिला है।
भरूच नगर पालिका के बैठक कक्ष में आम बैठक की अध्यक्षता मुख्य कार्यकारी अधिकारी अध्यक्ष अमित चावड़ा ने की। जिसमें भरूच में भूमिगत सीवरेज परियोजना की सफाई के लिए जीयूवीएनएल के सीएसआर के एक काम करने वाले सोलर रोबोट की ओर से एक उपहार का अनावरण किया गया। यह सोलर रोबोट स्वीपर मैनहोल के 20 फीट अंदर जाएगा और भूमिगत सीवर में मलबे को साफ करने के लिए एक कैमरे का उपयोग करेगा। इसकी क्षमता एक बार में 500 किलोग्राम है।
इस बैठक में भूमिगत जल निकासी के लिए कर की दरें भी निर्धारित की गई हैं, जिसमें आवासीय संपत्ति कर का 25% या 500 से कम है। विज्ञापनों के लिए संपत्ति कर 20 प्रतिशत, शिक्षण संस्थानों के लिए 15 प्रतिशत और धार्मिक स्थलों के लिए भूमिगत जल निकासी शुल्क 250 रुपये है। जिसे अनुमोदन के लिए आयुक्त के पास भेजा जाएगा।
विपक्षी नेताओं समसाद अली सैयद, सलीम अहमदवादी, हमेंद्र कोठीवाला और इब्राहिम कालकर ने पिछली बजट बैठक के कार्यवृत्त को खारिज कर दिया। शहर में डोर-टू-डोर ठेकेदार शत-प्रतिशत फेल बताया जा रहा था। वहीं, पालिका अध्यक्ष अमित चावड़ा ने मामले की जांच के लिए जांच कमेटी गठित की थी। बैठक में उपाध्यक्ष, जल निर्माण कार्य अध्यक्ष हेमेंद्र प्रजापति, कार्यकारी अध्यक्ष नरेश सुथारवाला, अन्य अध्यक्ष और सदस्य उपस्थित थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें