मानो या ना मानो : ऊपर से गुजर गई ट्रेन, फिर भी पटरी पर घोड़े बेचकर सोता रहा ये इस शख्स

(Photo Credit: hindi.news18.com)

रूस के ट्रांस-साइबेरियन रेलवे के क्रासनोयार्स्क में हुई चौका देने वाली घटना, -18 डिग्री सेंलसियस तापमान पर रेलवे लाइन के बीच में आकर सो गया शख्स

आपने राजेश खन्ना-अमिताभ बच्चन स्टारर फिल्म आनंद का वो शानदार डायलॉग याद होगा जिसमें राजेश खन्ना कहते है “जिंदगी और मौत तो उपर वाले के हाथ में है!” इस बात का अर्थ है कि आगर आपका समय पूरा नहीं हुआ तो आपको बड़े से बड़े हादसे में भी कुछ नहीं होगा। आपने देखा होगा कि कई बार लोग बड़े-बड़े हादसों में जिंदा बच जाते हैं। हाल ही में रूस में ऐसा ही कुछ देखने को मिला। एक बार में असंभव लगने वाली इस घटना में एक शख्स के ऊपर से ट्रेन गुजर गई पर वो शख्स बिल्कुल सह सलामत बच गया।
आपको बता दें कि सभी को चौंका देने वाली घटना रूस के ट्रांस-साइबेरियन रेलवे के क्रासनोयार्स्क से अबाकान तक जाने वाली रेलवे लाइन पर घटी। स्थानीय समाचार एजेंसी के अनुसार हादसे में चमत्कारिक रूप से बचने वाला क्रासनोयार्स्क का एक 36 वर्षीय शख्स शराब के नशे में -18 डिग्री सेंलसियस तापमान पर रेलवे लाइन के बीच में आकर सो गया। अचानक ही तेज गति से एक ट्रेन आ गई।तेज गति के कारण ड्राइवर ट्रेन को रोक ही नहीं पाया। जब आगे जाकर ट्रेन रुकी तो रेलवे कर्मी किसी आशंका के साथ शख्स के पास भागे मगर हैरानी की बात तो ये है कि वो ट्रेन गुजरने जाने के बाद भी वो सही सलामत घोड़े बेचकर सो रहा था। इतना ही नहीं इसके बाद शख्स को पटरी से हटाया गया तो भी वो नींद से नहीं जागा। फिर उसे नींद से जगाने की काफी कोशिश की गई।
गौरतलब है कि इस हादसे में दो चीजें हैरान कर देने वाली थी। पहला कि इतनी तेज रफ़्तार ट्रेन के नीचे होने पर भी उस व्यक्ति की हालत ठीक है और दूसरा कि -18 डिग्री सेल्सियस में, खुले में सोने के बावजूद भी उसे पाला नहीं मारा, या ठंड से उसकी मौत नहीं हुई। खैर होश में आने के बाद उस व्यक्ति ने बताया कि वो एक दोस्त से मिलने एक लोकल रेलवे स्टेशन पर गया था लेकिन शराब के नशे में धुत होने के कारण वो चलते-चलते पटरी के पास आ पहुंचा और वहीं लेटकर सो गया। हादसे के के बाद उसे अस्पताल भेजा गया। डॉक्टरों ने बताया कि उसे कुछ चोटें तो लगी हैं मगर उसकी हालत ठीक है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें