बांग्लादेश : मुस्लिम समुदाय ने किया अल्पसंख्यक हिन्दुओं पर हमला, मंदिर-पंडाल तोड़े, तीन लोगों की हुई मौत

(Photo Credit : twitter.com)

बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह दौरान कुछ हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की गई

हमारे पड़ोसी देशों से हिन्दुओं पर अत्याचार की खबरें आये दिन आती रहती है। खास कर पाकिस्तान और बांग्लादेश में आये दिन अल्पसंख्यक हिन्दुओं को प्रताड़ित किया जाता है। एक बार फिर बांग्लादेश में हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय पर अत्याचार की घटना सामने आई है। दरअसल बांग्लादेश में मुस्लिम समुदाय द्वारा हिन्दुओं के धार्मिक स्थानों को निशाना बनाया गया है। जानकारी के अनुसार बांग्लादेश में दुर्गा पूजा समारोह दौरान कुछ हिंदू मंदिर में तोड़-फोड़ की गई। इसके बाद शुरू हुए तनाव में तीन लोग मारे गए थे और कई लोग घायल हो गए। माहौल इतना बिगड़ गया कि सरकार को 22 जिलों में अर्धसैनिक बलों को तैनात करना पड़ा।
आपको बता दें कि दुर्गा पूजा हिंदुओं का पवित्र त्योहार है। नवरात्रि पर माँ दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। लेकिन, यह जीवंत त्योहार बांग्लादेश के हिंदू अल्पसंख्यक समुदाय के लिए हिंसा और बर्बरता में बीता। फेसबुक पर वायरल हुई एक फेक पोस्ट के बाद इस्लामिक समुदाय ने अल्पसंख्यक हिंदुओं के साथ बर्बरता की।  राजधानी ढाका से लगभग सौ किलोमीटर दूर कुमिला में एक पोस्ट के बाद दोनों समुदाय के बीच हिंसक झड़प हुई जिसमें काफी नुकसान हुआ और फिर इसके बाद प्रशासन और पुलिस ने इस मामले को शांत करने की कोशिश की। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, चाँदपुर के हाजीगंज, चटोग्राम और कोक्सबाजार में भी हिंदू मंदिरों में तोड़फोड़ की घटनाएँ भी सामने आई हैं। चाँदपुर के हाजीगंज, चट्टोग्राम के बंशखली, चपैनवाबगंज के शिबगंज और कॉक्स बाजार के पेकुआ में मंदिरों पर बेरहमी से हमला किया गया और हिंदू भक्तों को पीटा गया। इस हिंसक झड़प कथित तौर पर तीन हिंदू मारे गए हैं। हालाँकि, पुलिस ने अभी तक इसकी पुष्टि नहीं की है।
आपको बता दें कि बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हुई हिंसा के बारे में कई स्थानीय हिंदू और हिंदू संगठनों ने ट्विटर पर इस इस्लामिक बर्बरता के दृश्यों को साझा किया है। सरकार ने बांग्लादेश पुलिस रैपिड एक्शन बटालियन (आरएबी) और बांग्लादेश के अर्धसैनिक सीमा गार्ड को शांति व्यवस्था बनाएं रखने के लिए तैनात किया था। प्राप्त जानकारी के मुताबिक, धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने आपातकालीन सूचना जारी कर लोगों से शांति बनाएं रखने का अनुरोध किया है। नोटिस में सांप्रदायिक सद्भाव और शांति का आह्वान दोहराया गया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें