आसाम : कोरोना टेस्टिंग के डर से एक साथ भागे स्टेशन से 400 यात्री, वीडियो हुआ वायरल

(Photo Credit : facebook.com)

आसाम में ट्रेन से आने वाले यात्रियों के लिए अनिवार्य कर दिया है कोरोना जांच

देश भर में एक और जहां केंद्र और राज्य सरकार द्वारा सभी प्रयास किए जा रहे है। पर अभी भी नागरिकों द्वारा कई तरह की लापरवाहीयां की जा रही है, जिसके चलते संक्रमण का खतरा बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है। नागरिकों द्वारा की जा रही लापरवाही की ऐसी ही कुछ तस्वीरें आसाम के जगी रोड रेलवे स्टेशन से सामने आई थी। आसाम के गुवाहाटी से 60 किलोमीटर दूर आए जगी रोड रेलवे स्टेशन का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जहां स्टेशन पर मौजूद तकरीबन 400 यात्रीन दौड़ने लगे थे। 
बता दे की यह यात्री किसी आपत्ति के कारण नहीं, पर उन्हें कोरोना टेस्ट ना करवाना पड़े इसलिए भागे जा रहे है। स्टेशन पर भाग रहे इन यात्रियों का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है बता दे की यह ट्रेन तमिलनाडु के कन्या कुमारी से रवाना हुई थी और पाँच दिन के प्रवास के बाद केरल, आंध्रप्रदेश, ओड़ीशा और पश्चिम बंगाल होते हुये आसाम पहुंची थी। जहां उतारने के बाद यात्रियों ने अनिवार्य कोविड टेस्ट में हिस्सा ना लेते हुये वहाँ से भाग निकले थे। 
बता दे की आसाम में सभी ट्रेन से आने वाले यात्रियों के लिए कोरोना जांच अनिवार्य कर दी गई है। कुछ ऐसा ही एक मामला पिछले महीने बिहार में भी सामने आई थी। जहां बक्सर के एक रेलवे स्टेशन पर कई लोग कोरोना जांच से बचने के लिए दौड़ के स्टेशन से भाग निकले थे। ऐसे में सवाल यह उठता है की क्या कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने में नागरिकों की कोई ज़िम्मेदारी नहीं है। इस तरह से बिना जांच करवाए भाग गए लोगों में से यदि कुछ लोग भी कोरोना संक्रमित हुये तो हो सकता है की वह संक्रमण को और भी बढ़ा दे। जिसके चलते नागरिकों द्वारा किया गया यह कृत्य हकीकत में निंदनीय है। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें