अहमदाबाद : शहर की खूबसूरती में चार चाँद लगाएगा ये अटल पुल, जल्दी ही आम जनता के लिए खुलेगा

सत्तारूढ़ दल ने पुल के चल रहे संचालन की समीक्षा की। पुल का काम 31 मई तक पूरा होने की उम्मीद है

खुबसुरत अहमदाबाद शहर की सुंदरता को बढ़ाने के लिए शहर में एक और जगह जुड़ने जा रही है। शहर के पूर्व और पश्चिम क्षेत्रों को जोड़ने वाला अटल पैदल पुल जल्द ही जनता के लिए खोल दिया जाएगा। सत्तारूढ़ दल ने पुल के चल रहे संचालन की समीक्षा की। पुल का काम 31 मई तक पूरा होने की उम्मीद है।
अहमदाबाद में साबरमती नदी के तट पर स्थित, यह प्रतिष्ठित पैदल पुल, अटल फुट ओवर ब्रिज, शायद देश का पहला पुल होगा। साबरमती रिवरफ्रंट के पश्चिमी और पूर्वी हिस्सों को जोड़ने वाले अटल फुट ओवर ब्रिज का उद्घाटन निकट भविष्य में प्रधान मंत्री द्वारा किया जाएगा। यह फुट ओवरब्रिज पतंग के साथ-साथ उत्तरायण के उत्सव से प्रेरित है। यह कांच का फुटओवर ब्रिज सरदार ब्रिज और एलिस ब्रिज के बीच बना है। साबरमती रिवरफ्रंट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट के तहत 74.29 करोड़ रुपये की लागत से साबरमती नदी पर एलिसब्रिज और सरदार ब्रिज के बीच एक फुट ओवरब्रिज की योजना बनाई गई है। जो पूर्वी और पश्चिमी तटों को जोड़ेगा।
इस अटल फुट ओवरब्रिज की विशेषताओं की बात करें तो इस पुल पर लोअर और अपर प्रोमिनाद से आया-जाया जा सकता है। 300 मीटर लंबाई वाले इस पुल में फुट कियोस्क (02 नग), सीटिंग कम प्लांटर (14 नग), पारदर्शी कांच का फर्श (4 नग 24 वर्ग मीटर)। इसके बीच का अंतराल 100 मीटर है। इस पुल की चौड़ाई पुल के अंत में 10 मीटर और पुल के बीच में 12 मीटर है। आइकॉनिक स्टील ब्रिज का वजन 2600 मेट्रिक तन हैं। छत लोहे के पाइप की संरचना और रंगीन कपड़े की तन्यता संरचना से बनी है।
बीच में लकड़ी के फर्श, ग्रेनाइट फर्श, प्लांटर स्टेनलेस स्टील और कांच की रेलिंग हैं। बीच में फूड कियोस्क, बैठने व वृक्षारोपण की व्यवस्था की गई है। पुल में एलईडी लाइटिंग है जो गतिशील रंग परिवर्तन की अनुमति देता है। यह आइकॉनिक ब्रिज रिवरफ्रंट डेवलपमेंट के साथ-साथ अहमदाबाद शहर के लिए एक स्टेटस होगा। यह ब्रिज इंजीनियरिंग के अजूबे के तौर पर जाना जाएगा। पुल वेस्ट कोस्ट फ्लावर गार्डन और इवेंट ग्राउंड को प्लाजा से ईस्ट कोस्ट प्रदर्शनी, सांस्कृतिक, कला केंद्र से जोड़ेगा। पुल बनने से अहमदाबाद के लोग बिना ट्रैफिक के साबरमती नदी और साबरमती रिवरफ्रंट का शांतिपूर्वक आनंद ले सकेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें