अहमदाबाद : साइबर अपराध को सिर उठाने से पहले ही कुचलने को तैयार गुजरात पुलिस : सीएम

मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने गुजरात पुलिस के साइबर सेफ मिशन का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री एवं गृह राज्य मंत्री ने ‘साइबर सेफ गर्ल’ पुस्तक का विमोचन और साइबर सेफ अहमदाबाद वेबसाइट को लॉन्च किया

साइबर धोखाधड़ी और अपराधों को लेकर नागरिकों को जागरूक करने विभिन्न प्रकल्पों का प्रारंभ
मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने साफ तौर पर कहा कि गुजरात पुलिस अत्याधुनिक तकनीक और उपकरणों का अधिकतम उपयोग करते हुए साइबर क्राइम सहित अन्य अपराधों को सिर उठाने से पहले ही कुचलने को तैयार है। अहमदाबाद शहर पुलिस की साइबर अपराध शाखा की ओर से शुरू किए गए जागरूकता अभियान ‘साइबर सेफ मिशन’ का सोमवार को अहमदाबाद में शुभारंभ करते हुए उन्होंने यह बात कही। 
मुख्यमंत्री ने इस संदर्भ में कहा कि अपराध के घटित होने के बाद उसकी जांच करने और अपराधियों तक पहुंचने के बजाय पुलिस बेड़े ने अब नए जमाने और टेक्नोलॉजी के अनुरूप प्रो-एक्टिव पुलिसिंग का कौशल विकसित किया है। उन्होंने कहा कि आज मोबाइल, इंटरनेट और साइबर युग के बढ़ते दायरे के साथ साइबर अपराध करने वाले लोग भी बड़े पैमाने पर ऐसे अपराधों के जरिए लोगों को धोखाधड़ी और आर्थिक ठगी का शिकार बना रहे हैं, ऐसे में समाज में ऐसे अपराधों के खिलाफ जनजागरूकता पैदा करने में यह साइबर सेफ मिशन एक सक्षम माध्यम बनेगा। 
श्री पटेल ने कहा कि सरकार इस तरह की आधुनिक तकनीक का उपयोग और आयोजन कर रही है जिससे नागरिकों को कम से कम या नगण्य मुश्किलों से गुजरना पड़े। इससे राज्य के नागरिकों की सुख-सुविधाओं में वृद्धि हो रही है। 
इस संदर्भ में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आधुनिक टेक्नोलॉजी और विकास के साथ समाज के आखिरी छोर पर खड़े व्यक्ति को जोड़ने के सरकार के प्रयासों का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि लोगों को साइबर अपराध का शिकार बनने से रोकने के लिए एक जनआंदोलन खड़ा करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि लोग जितने ज्यादा जानकार होंगे, उतने ही सुरक्षित रहेंगे। मुख्यमंत्री  भूपेंद्र पटेल ने राज्य की महिलाओं को साइबर सुरक्षा के संबंध में मार्गदर्शन देती डॉ. अनंत प्रभुजी लिखित पुस्तक ‘साइबर सेफ गर्ल’ का विमोचन किया। उन्होंने आर.एल. नरसिम्बा रावजी द्वारा साइबर अपराधों और विभिन्न हैकिंग गतिविधियों के संबंध में जानकारी देने वाली वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट साइबरसेफअहमदाबाद डॉट ओआरजी को लॉन्च भी किया। 
वर्तमान साइबर दुनिया में युवा और साइबर सुरक्षा विषय पर गुजरात पुलिस की ओर से विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आयोजित वाद-विवाद प्रतियोगिता के 3 विजेताओं को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। इसके अलावा, गुजरात पुलिस की ओर से स्कूल एवं कॉलेज के विद्यार्थियों में साइबर हैकिंग और साइबर फ्रॉड के खिलाफ जागरूकता पैदा करने तथा विद्यार्थियों को इस तरह के अपराधों का शिकार बनने से रोकने के लिए आयोजित की गई हैकाथॉन के विजेता विद्यार्थियों को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया। 
साइबर अपराध को रोकने की ठोस योजना के साथ पुलिस बल के लिए पर्याप्त वित्तीय प्रावधान करने को तत्पर है राज्य सरकारः गृह मंत्री
गृह राज्य मंत्री  हर्ष संघवी ने ‘साइबर सेफ मिशन’ के रूप में गुजरात पुलिस की पहल और उसके अंतर्गत विभिन्न प्रकल्पों के शुभारंभ पर बधाई देते हुए कहा कि साइबर सुरक्षा की केवल बातें ही नहीं बल्कि साइबर अपराध को रोकने की ठोस योजना के साथ पुलिस बल के लिए पर्याप्त वित्तीय प्रावधान करने को राज्य सरकार तत्पर है। इस संदर्भ में श्री संघवी ने कहा कि वर्ष 2020 में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह द्वारा शुरू किए गए साइबर आश्वस्त प्रोजेक्ट के अंतर्गत राज्य में अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित यूनिट शुरू किए गए हैं। इन यूनिटों के सहयोग से साइबर गतिविधियों से संबंधित अपराधों और शिकायतों के निवारण में राज्य पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि इस तरह की यूनिट तैयार करने वाला गुजरात देश का पहला राज्य है। 
उन्होंने कहा कि गुजरात पुलिस राज्य के नागरिकों की छोटी से छोटी विषय अनुरूप शिकायत को भी अत्यंत गंभीरतापूर्वक न्याय के साथ उसका निराकरण करने का सघन प्रयास करती है। साइबर सेफ मिशन कार्यक्रम के तहत अहमदाबाद शहर के 400 से अधिक नागरिकों के गुम एवं चोरी हुए मोबाइल को ढूंढकर सौंपा गया है। इस संदर्भ में गृह राज्य मंत्री ने कहा कि राज्य के नागरिकों के गुम या चोरी हुए मोबाइल के विषय को साइबर सेफ मिशन तक ले जाकर नागरिकों को उनके फोन सुरक्षित वापस लौटाने की मुख्यमंत्री की यह अनोखी संवेदना है। 
नागरिकों की सुरक्षा के लिए पुलिस विभाग के साथ शिक्षा विभाग के कार्यों का समन्वय विकास के नए युग का सूत्रपात करेगाः शिक्षा मंत्री
शिक्षा मंत्री  जीतूभाई वाघाणी ने आधुनिकीकरण के साथ साइबर अपराधों को कुचलने के गुजरात पुलिस के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि गुजरात पुलिस पूरी कर्तव्यनिष्ठा के साथ राज्य के नागरिकों की सलामती का कार्य श्रेष्ठ तरीके से कर रही है। सुरक्षित राज्य के रूप में गुजरात की छवि को स्थायी रूप से बनाए रखने में गुजरात पुलिस के योगदान के लिए शिक्षा मंत्री ने राज्य के सभी पुलिस जवानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि साइबर सेल ने उच्चतर माध्यमिक शिक्षा विभाग को भी साइबर सुरक्षा से संबंधित विभिन्न जन जागरूकता कार्यक्रमों में शामिल किया है, तब इसके जरिए जनजागृति के सघन प्रयास शुरू किए जाएंगे। 
श्री वाघाणी ने आगे कहा कि पुलिस विभाग के साथ राज्य के नागरिकों की सुरक्षा के लिए शिक्षा विभाग कदम से कदम मिलाकर नवीन दृष्टिकोण के साथ विकास के नए युग का सूत्रपात करेगा। 
उन्होंने आश्वस्त किया कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के उपयोग से राज्य में साइबर सुरक्षा के संबंध में जागरूकता पैदा करने को लेकर जहां भी शिक्षा विभाग की जरूरत होगी, वहां विभाग उनके साथ तत्परता से खड़ा होगा। कार्यक्रम में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री  प्रदीपभाई परमार, राज्य मंत्री सर्वश्री जगदीश विश्वकर्मा, मुकेशभाई पटेल, अहमदाबाद के महापौर किरीटभाई, मनपा स्थायी समिति के अध्यक्ष हितेशभाई बारोट, भाजपा शहर अध्यक्ष अमितभाई शाह, पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया, अहमदाबाद पुलिस आयुक्त संजय श्रीवास्तव सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित थे। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें