अहमदाबाद : मेधा का साथ देकर गुजरात के जख्मों पर नमक छिड़क रही है कांग्रेस

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह

सौराष्ट्र के गढ़ फतह करने के लिए अमित शाह ने जसदण में सभा को संबोधित किया

 गुजरात विधानसभा चुनाव की वोटिंग प्रक्रिया अब गिनती के दिन ही शेष है। जिससे गुजरात विधानसभा चुनाव की जंग जीतने के लिए तमाम राजनीतिक दल मैदान में उतर गए हैं। ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के प्रचार के लिए खुद प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुजरात में प्रचार कर रहे हैं। गत रोज अलग-अलग इलाकों में सभा करने के बाद भी अमित शाह प्रचार के मैदान में हैं। अमित शाह ने बुधवार को जसदण में उम्मीदवार कुंवरजी बावलिया के लिए प्रचार सभा को संबोधित किया। इस जनसभा में उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। 

आपका एक वोट गुजरात का भविष्य तय करेगा


जसदण में जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि जसदण सिर्फ सभा या बैठक नहीं है। इनके कार्य करने का बैठक है। मैंने पहले भी कुंवरजीभाई को विधान सभा में काम करते देखा है। आपका एक वोट गुजरात का भविष्य तय करेगा। कांग्रेस ने सालों तक सौराष्ट्र को प्यासा रखा। भाजपा ने सौराष्ट्र में पानी की समस्या का समाधान किया। पहले पानी के लिए गांधीनगर से ट्रेन भेजनी पड़ती थी तो नर्मदा योजना को भी कांग्रेस ने रोक दिया था।

सालों तक नर्मदा योजना में बाधा डालने वाली मेधा पाटकर राहुल गांधी की यात्रा में शामिल हुईं


सौराष्ट्र के गढ़ को फतह करने के लिए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जसदण में जमकर प्रचार किया और कांग्रेस को आड़े हाथ लिया। अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने सालों तक राज किया, फिर भी सौराष्ट्र प्यासा रहा, लेकिन बीजेपी ने सौराष्ट्रवासियों की पानी की समस्या का स्थायी समाधान किया। उन्होंने कहा कि सालों तक नर्मदा योजना में बाधा डालने वाली मेधा पाटकर राहुल गांधी की यात्रा में शामिल हुईं। कांग्रेस गुजरात विरोधी को समर्थन देकर गुजरात के जख्मों पर नमक छिड़कती है। अरविंद केजरीवाल ने 2014 में मेधा पाटकर को भी टिकट दिया था। हालांकि, केजरीवाल जानबूझकर मेधा पाटकर को गुजरात नहीं लाते हैं।

 गुजरात में दो चरणों में वोटिंग होगी


गुजरात में आगामी चुनाव दो चरणों में मतदान होंगे। जिसमें पहले चरण का मतदान एक दिसंबर को और दूसरे चरण का मतदान पांच दिसंबर को होगा। साथ ही आठ दिसंबर को मतगणना कराई जाएगी। गुजरात विधानसभा चुनाव दो चरणों में होंगे। पहले चरण में 89 सीटों पर मतदान होगा, जिसमें कच्छ, सौराष्ट्र की मोरबी, पोरबंदर, राजकोट, जूनागढ़, अमरेली, भावनगर, भरूच, सूरत और देवभूमि द्वारका समेत दक्षिण गुजरात के कुछ जिले शामिल हैं। जबकि दूसरे चरण में 93 सीटों पर मतदान होगा। इसमें उत्तर गुजरात और मध्य गुजरात के जिले शामिल हैं। पहले चरण में 19 जिलों की 89 सीटों पर मतदान होगा, जबकि दूसरे चरण में 14 जिलों की 93 सीटों पर मतदान होगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें