अफगानिस्तान : देश से भागे राष्ट्रपति अशरफ गनी के भाई ने दिया तालिबान को समर्थन

(Photo Credit :gujaratsamachar.com)

उपराष्ट्रपति अमुरुल्लाह सालेह ने खुद को घोषित किया कार्यवाहक राष्ट्रपति

अफगानिस्तान में तालिबान का कब्ज़ा हो जाने के बाद देश के राष्ट्रपति अशरफ गनी वहां से भाग खड़े हुए। ऐसे में एक बड़ी खबर सामने आई है जिसमें बताया जा रहा है कि अफगानिस्तान से भागे राष्ट्रपति अशरफ गनी के भाई ने सत्ताधारी तालिबान से हाथ मिला लिया है। रिपोर्टों के अनुसार, अशरफ गनी के भाई हशमत गनी ने तालिबान नेता खलील-उर-रहमान के साथ-साथ धार्मिक नेता मुफ्ती महमूद जाकिर की उपस्थिति में तालिबान के लिए अपने समर्थन की घोषणा की।
आपको बता दें कि अशरफ गनी इस समय अपने परिवार के साथ संयुक्त अरब अमीरात के अबू धाबी में हैं। वह पहले पड़ोसी ताजिकिस्तान चले गए थे लेकिन ताजिकिस्तान ने उन्हें अपनी जमीन को उतरने नहीं दिया। बाद में गनी ने देश छोड़ने के अपने फैसले का बचाव किया। राष्ट्रपति गनी पर 1,200 करोड़ रुपये लेकर भागने का भी आरोप था, हालांकि उन्होंने आरोपों से इनकार किया है।
दूसरी ओर, अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमुरुल्लाह सालेह ने अब खुद को कार्यवाहक राष्ट्रपति घोषित कर दिया है। हालांकि गनी के भाई द्वारा तालिबान के समर्थन में की गई घोषणा अफगान लोगों की पीठ में छुरा घोंपने के समान है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें