अस्पताल में जब आग लगी तब एक मरीज़ की हार्ट सर्जरी चल रही थी, अनुमान लगाएं ऑपरेशन का क्या हुआ होगा!?

(Photo Credit :dailyhunt.in)

मरीज का चल रहा था हार्ट बायपास का ऑपरेशन, आठ डोकटरों की टीम ने मिलकर बचाई जान

कहा जाता है की डॉक्टर भगवान का दूसरा रूप होता है। कई बार तो वह सच में इसे सच भी साबित कर देते है। कुछ ऐसा ही हुआ जब रूस के ब्लागोव्सचेंस्क शहर में डॉक्टर साक्षात भगवान के रूप में रहकर मरीज की जान बचाई थी। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, रूस के ब्लागोव्सचेंस्क शहर में कुछ डॉक्टर एक मरीज के हार्ट का ओपरेशन कर रहे थे। इसी दौरान अस्पताल में भीषण आग लग गई, हर तरफ सिर्फ धुआँ ही धुआँ फ़ेल गया था। हालांकि इतनी भयंकर परिस्थिति में भी डॉक्टर ने पेशंट को छोडकर नहीं गए और वहाँ उसका ओपरेशन करते रहे। 
जब अस्पताल में आग फ़ेल रही थी तब आठ डोकटरों की टीम मरीज का ओपरेशन कर रहे थे। आग बुझाने के लिए मौके पर दमकल की गाडियाँ मौजूद हो गई थी, जिन्हें आग बुझाने में दो घंटे का समय लगा। तब तक सभी डॉक्टर उस मरीज का इलाज करते रहे। ना ही कोई विचलित हुआ और ना ही कोई अपनी जान बचाने के लिए भागा। 
मरीज का ओपरेशन करने वाले एक डॉक्टर वेलेंटीन फिलाटोव ने कहा की मरीज का बायपास ओपरेशन करना था और वह इसे सफल बनाकर मरीज की जान बचाना चाहते थे। उनके पास ओर कोई विकल्प नहीं था। फिलहाल मरीज स्वस्थ है और उसे दूसरी अस्पताल मे शिफ्ट कर दिया गया है।  रिपोर्ट के अनुसार, अस्पताल के ऊपरी हिस्से में आग लग गई थी, जिसका निर्माण लकड़ी से हुआ था। इसलिए आग और तेजी से फैलने लगी। आग लगने के बाद फौरन ही 128 लोगों को अस्पताल में से बाहर निकाल लिया गया था। 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें