असम में डॉक्टर से बेरहमी से मारपीट करने के आरोप में 24 गिरफ्तार

(Photo Credit : twitter.com)

मुख्यमंत्री ने दी दोषियों को कड़ी सजा देने का आश्वासन, आईएमए और एसएमएसए ने की कड़ी निंदा

गुवाहाटी, 2 जून (आईएएनएस)| असम के होजाई जिले के एक सरकारी अस्पताल में एक डॉक्टर की बेरहमी से पिटाई के बाद पुलिस ने एक महिला समेत कम से कम 24 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बुधवार को कहा कि गुवाहाटी से लगभग 140 किलोमीटर दूर होजाई में उदाली कोविड केयर सेंटर में तैनात सीयूज कुमार सेनापति को एक कोविड रोगी के रिश्तेदारों द्वारा बुरी तरह से पीटा गया। डॉक्टर को लात-घूसों के साथ ही ईंट-पत्थर से भी मारा गया। कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के कारण रोगी की मौत होने पर उसके परिजन व रिश्तेदार भड़क गए और डॉक्टर के साथ मारपीट शुरू कर दी।
पुलिस और स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि घायल युवा डॉक्टर का नगांव के एक अन्य अस्पताल में इलाज चल रहा है और मंगलवार शाम की घटना के बाद उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने इस मामले को लेकर ट्वीट किया है और घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा है '' मैं निजी तौर पर इस मामले की निगरानी कर रहा हूं और मैं वादा करता हूं कि जूनियर डॉक्टर को न्याय जरूर मिलेगा।'' 
सरमा ने ट्वीट में कहा, '' इस बर्बर हमले में शामिल 24 दोषियों को गिरफ्तार कर लिया गया है और जल्द से जल्द आरोप पत्र दायर किया जाएगा।'' उन्होंने कहा, '' मैं व्यक्तिगत रूप से इस जांच की निगरानी कर रहा हूं और मैं वादा करता हूं कि न्याय किया जाएगा।'' सरमा, जो अब दिल्ली में हैं, उन्होंने अपने ट्वीट में भी 24 लोगों में से 22 के नामों का उल्लेख किया और कहा कि अपराधियों की पहचान कर ली गई है। 
पुलिस ने कहा कि पीपल पुखुरी गांव निवासी जियाजुद्दीन, जो कोविड-19 पॉजिटिव था, उसकी मंगलवार को कोविड से जुड़े संक्रमण और गुर्दे से संबंधित जटिलताओं के कारण मृत्यु हो गई थी। घायल डॉक्टर सेनापति ने मीडिया को बताया कि करीब 40 लोगों ने उनके साथ मारपीट की है। भीड़ ने अस्पताल में भी तोड़फोड़ की और अन्य डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर हमला करने की कोशिश की। डॉक्टर ने कहा, '' मैं एक कमरे में घुस गया और छिपने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने मुझे ढूंढ लिया और मेरे साथ मारपीट की। उन्होंने मेरी सोने की चेन, मेरी अंगूठी और मोबाइल फोन छीन लिया।''
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, असम चैप्टर और असम मेडिकल सर्विसेज एसोसिएशन (एएमएसए) ने घटना की कड़ी निंदा करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। एएमएसए के सदस्यों ने भी घटना के विरोध में बुधवार को सभी सरकारी चिकित्सा सुविधाओं में बाह्य रोगी विभाग की सेवाओं का बहिष्कार किया है। हालांकि, आपातकालीन सेवाएं और कोविड से संबंधित ड्यूटी जारी रहेंगी। विरोध के तौर पर डॉक्टर काला बिल्ला पहनकर अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक जी. पी. सिंह ने कहा कि मामला दर्ज किया गया है और एक पुलिस उप महानिरीक्षक और होजाई जिला पुलिस अधीक्षक जांच का नेतृत्व कर रहे हैं।
(Disclaimer: यह खबर सीधे समाचार एजेंसी की सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है। इसे लोकतेज टीम ने संपादित नहीं किया है।)

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:


ये भी पढ़ें