अहमदाबाद : गुजरात कांग्रेस प्रभारी रघु शर्मा ने हार स्वीकारी, दिया इस्तीफा

अहमदाबाद : गुजरात कांग्रेस प्रभारी रघु शर्मा ने हार स्वीकारी, दिया इस्तीफा

राजीव सातव के निधन के बाद डॉ. रघु शर्मा को गुजरात का प्रभारी बनाया गया था, रघु शर्मा गुजरात कांग्रेस के पर्यवेक्षक अशोक गहलोत के काफी करीबी माने जाते हैं

गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो चुके हैं। भारतीय जनता पार्टी ने लगातार सातवीं बार बहुमत हासिल किया है। गुजरात में भारतीय जनता पार्टी ने रिकॉर्ड तोड़ जीत दर्ज कांग्रेस और आम आदमी पार्टी का सूपड़ा साफ कर दिया। गुजरात में कांग्रेस की हालत खराब हो गई है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने गुजरात में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया था। हालांकि इस चुनाव में कांग्रेस को काफी कम सीटें मिली हैं। गुजरात में कांग्रेस की शर्मनाक हार के बाद गुजरात कांग्रेस के प्रभारी रघु शर्मा ने इस हार की जिम्मेदारी स्वीकार करते हुए इस्तीफा दे दिया है। एक तरफ बीजेपी ने गुजरात में सबसे ज्यादा सीटें प्राप्त कर जीत हासिल की है तो दूसरी तरफ कांग्रेस को रिकॉर्ड से कम सीटें मिली हैं।

रघु शर्मा को पिछले साल गुजरात का प्रभारी बनाया गया था


गुजरात कांग्रेस के राजीव सातव के निधन के बाद खाली गुजरात प्रभारी का पद रिक्त हुआ था। कांग्रेस ने लंबे समय के बाद रघु शर्मा को गुजरात का प्रभारी बनाया था। पिछले साल कांग्रेस ने 7 अक्टूबर 2021 को रघु शर्मा को गुजरात का प्रभारी नियुक्त किया था। राजस्थान सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के काफी करीबी माने जाते हैं। राज्य सभा सांसद राजीव सातव का 46 वर्ष की आयु में 16 मई को कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया था।

रघु शर्मा के कार्यभार संभालने के बाद कांग्रेस नेताओं का इस्तीफा


गुजरात में कांग्रेस के प्रभारी के रूप में पद संभालने के बाद कांग्रेस नेताओं की नाराजगी देखी गई थी। कांग्रेस की अंदरूनी कलह बाहर आ रही थी। गुजरात में रघु शर्मा के पद संभालने के बाद कांग्रेस के चार पूर्व विधायकों और अन्य नेताओं ने इस्तीफा दे दिया और भाजपा में शामिल हो गए। कांग्रेस में आंतरिक कलह के कारण कई नेता पार्टी छोड़कर अन्य दलों में शामिल हो गए।

रघु शर्मा के कार्यकाल में कांग्रेस का खराब रिकॉर्ड


गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित हो चुके हैं। गुजरात में बीजेपी ने प्रचंड बहुमत हासिल किया है और कांग्रेस और अन्य पार्टियों को बुरी तरह हराया है। इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का गुजरात में सबसे खराब रिकॉर्ड है। रघु शर्मा को गुजरात प्रभारी बनाए जाने के बावजूद कांग्रेस ने गुजरात में मुख्यमंत्री के चेहरे की घोषणा नहीं की। कांग्रेस की रणनीति बेहद लचर थी और प्रचार भी धीमा था। गुजरात विधानसभा चुनाव में बहुत कम सीटें पाने वाले रघु शर्मा ने हार स्वीकार कर इस्तीफा दे दिया।
Tags: 0

Related Posts