रणजी ट्रॉफी : मुंबई की उत्तराखंड ऐतिहासिक जीत, तोड़ा 92 साल पुराना रिकॉर्ड

रणजी ट्रॉफी : मुंबई की उत्तराखंड ऐतिहासिक जीत, तोड़ा 92 साल पुराना रिकॉर्ड

मुंबई ने उत्तराखंड के खिलाफ दूसरे क्वार्टर फाइनल में 725 रन के विशाल अंतर से जीत दर्ज की

इस समय रणजी ट्राफी चल रहा है। इसमें मुंबई ने ऐतिहासिक जीत हासिल की। पृथ्वी शॉ की कप्तानी वाली मुंबई क्रिकेट टीम ने गुरुवार को रणजी ट्रॉफी में उत्तराखंड के खिलाफ दूसरे क्वार्टर फाइनल में 725 रन के विशाल अंतर से जीत दर्ज की। रणजी के इतिहास में किसी भी टीम की ये सबसे बड़ी जीत है। रणजी के अलवा मुंबई की यह जीत प्रथम श्रेणी क्रिकेट इतिहास में किसी भी टीम की सबसे बड़ी जीत है। 
मैच की बात करें तो दूसरे क्वार्टर फाइनल में मुंबई ने उत्तराखंड के सामने जीत के लिए चौथी पारी में 795 रन का असंभव सा लक्ष्य रखा था। लक्ष्य का पीछा करने उतरी उत्तराखंड की टीम महज 69 रन पर ढेर हो गई और इस तरह मुंबई ने ये मुकाबला 725 रन जीत लिया। उत्तराखंड की टीम के केवल दो बल्लेबाज दो अंक के आंकड़े तक पहुंच सकी। उत्तराखंड की ओर से विकेटकीपर शिवम खुराना सबसे सफल बल्लेबाज रहे। उन्होंने 25 रन बनाये जबकि कुनाल चंदेला (21) रन बना सके। उत्तराखंड के पांच बल्लेबाज अपना खाता भी नहीं खोल सके। वहीं 4 बल्लेबाज एक अंक के आंकड़े को पार नहीं कर सके।
इस जीत के साथ मुंबई ने न्यू साउथ वेल्स के सबसे बड़ी जीत का  92 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया। साल 1930 में न्यू साउथ वेल्स ने क्वींसलैंड के खिलाफ 685 रन के अंतर से जीत हासिल की थी।
पहली पारी में मुंबई ने सुवेद पारकर के दोहरे शतक (252) और सरफराज खान(153) के शतक की बदौलत 8 विकेट पर 647 रन का स्कोर खड़ा किया। इसके बाद मुंबई के गेंदबाजों ने कहर परपाते हुए उत्तराखंड को 114 रन पर ढेर कर दिया और पहली पारी में 533 रन की बढ़त हासिल हासिल कर ली। इसके बाद मुंबई ने दूसरी पारी में 3 विकेट पर 261 रन का स्कोर खड़ा किया। और जीत के लिए उत्तराखंड के सामने 795 रन का असंभव सा लक्ष्य रखा।
Tags: Cricket