अंधविश्वास : पति की बीमारी ठीक करने महिला ने देवर की नन्हीं बेटी की जान ली!

अंधविश्वास : पति की बीमारी ठीक करने महिला ने देवर की नन्हीं बेटी की जान ली!

तांत्रिक द्वारा पति की बीमारी ठीक करने के लिए छोटी बच्ची की बलि देने की दी गई थी आज्ञा

भारत में एक और जहां लोग ज्ञान और विज्ञान की बड़ी-बड़ी बातें कर रहे है। जहां एक और लोग चाँद पर जाने की तैयारी कर रहे है। वहीं दूसरी और अभी भी कई लोग ऐसे है अंधश्रद्धा में विश्वास रखते है। इस अंधश्रद्धा के चलते कई बार लोग ऐसे काम भी कर देते है, जिसे सोच पाना भी नामुमकिन होता है। एक ऐसा ही मामला तमिलनाडू के पाट्टूकोत्तई से सामने आया है, जहां एक महिला ने अपने पति की बीमारी ठीक करने के लिए अपने देवर की 6 महीने की बेटी की हत्या कर दी। 
विस्तृत जानकारी के अनुसार, शर्मिला बेगम नाम की इस महिला का पति पिछले काफी समय से बीमार चल रहा था। उसने कई डॉक्टरों को अपनी बीमारी के बारे में बताया पर फिर भी उसकी बीमारी का कोई तोड़ नहीं निकला। इस बात से परेशान होकर शर्मिला को कुछ नहीं सुझा तो उसने तांत्रिक की सलाह लेने की सोची। जब शर्मिला तांत्रिक से मिली तो उस तांत्रिक ने पति के इलाज के लिए एक छोटे बच्चे की बाली देने को कहा था। शर्मिला ने तंत्रिका का उपाय पूर्ण करने के लिए अपने ही देवर के 6 महीने की बेटी का कत्ल कर दिया था। इस पर शर्मिला पर देवर की पत्नी द्वारा आरोप लगाया गया था। देवर की पत्नी ने यह भी बताया की हत्या करने के बाद शर्मीला ने लाश को उनके आँगन में दफनाने का प्रयास किया था। जिसका उसने काफी विरोध किया था। 
घटना की जानकारी मिलते ही तहसीलदार ने पुलिस को शिकायत कर मामले की जांच शुरू करवाई, जिसमें सामने आया की आरोपी शर्मिला बेगम ने तांत्रिक की बात मानकर मासूम बालक की जान ली थी। फिलहाल पुलिस ने शर्मिला को हिरासत में ले लिया है और तांत्रिक की खोज में लगी हुई है। इस बीच पुलिस द्वारा मासूम बच्ची के पोस्ट्मॉर्टेम के बाद उसे दफनाने की इजाजत दी है।
Tags: Tamilnadu

Related Posts