सूरत : 'स्वस्थ पृथ्वी, स्वस्थ स्वयं' थीम पर विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया

चैंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा वृक्षारोपण और योग कार्यक्रम के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया

सूरत : 'स्वस्थ पृथ्वी, स्वस्थ स्वयं' थीम पर विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया

सूरत में 5 जून 2024 को दक्षिण गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की महिला उद्यमी सेल ने बुधवार को 'स्वस्थ पृथ्वी, स्वस्थ स्वयं' की थीम पर विश्व पर्यावरण दिवस मनाया। इस अवसर पर, सरसाणा स्थित चेंबर ऑफ कॉमर्स के पटांगन में सूरत नगर निगम के सहयोग से वृक्षारोपण किया गया और शहरवासियों को फिटनेस रूटीन और योग के बारे में जानकारी दी गई।

कार्यक्रम का शुभारंभ चैंबर ऑफ कॉमर्स के उपाध्यक्ष और निर्वाचित अध्यक्ष विजय मेवावाला ने स्वागत भाषण के साथ किया। उन्होंने नागरिकों से सूरत के पर्यावरण को स्वच्छ और स्वस्थ बनाने की अपील की। उन्होंने कहा, "जब हम पृथ्वी को स्वस्थ रखने की बात करते हैं तो सबसे महत्वपूर्ण बात सबसे पहले स्वस्थ रहना है। ताकि हम पर्यावरण को कुशलतापूर्वक बनाए रख सकें।"

गुजरात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (जीपीसीबी) की क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ. जिज्ञाबेन ओझा ने वृक्षारोपण के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, "पर्यावरण संरक्षण में वृक्षारोपण की बड़ी भूमिका है। पेड़-पौधे पर्यावरण को शुद्ध ऑक्सीजन प्रदान करते हैं और कोरोना काल में लोगों को ऑक्सीजन की कमी महसूस हुई है। ऐसे में हम प्राकृतिक ऑक्सीजन को नजरअंदाज नहीं कर सकते।"

कार्यक्रम में सैम्स परफॉर्मेंस कोचिंग के निदेशक पीनल शेख ने योग और ध्यान के महत्व पर जानकारी दी। उन्होंने कहा, "जो व्यक्ति दैनिक जीवन में नियमित रूप से योगाभ्यास करता है, उसमें अनुशासन, मानसिक स्वास्थ्य, शारीरिक स्वास्थ्य पाया जाता है। ध्यान व्यक्ति को मानसिक शांति प्रदान करता है।"

चैंबर ऑफ कॉमर्स की महिला उद्यमी सेल की अध्यक्ष कृतिका शाह ने कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की और सेल की सलाहकार स्वाति शेठवाला ने कार्यक्रम का संचालन किया। कार्यक्रम में सेल की सह-अध्यक्ष निमिषा पारेख, रोशनी टेलर, चैंबर की ग्रुप चेयरमैन डॉ. बंदना भट्टाचार्य, चैंबर की जीएफआरआरसी कमेटी के चेयरमैन गिरधर गोपाल मुंदड़ा और सेल की सलाहकार ज्योत्सना गुजराती सहित अन्य गणमान्य उपस्थित थे।

मुख्य बिंदु:

  • विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर महिला उद्यमी सेल द्वारा 'स्वस्थ पृथ्वी, स्वस्थ स्वयं' थीम पर कार्यक्रम आयोजित किया गया।
  • वृक्षारोपण और योग कार्यक्रम के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया गया।
  • नागरिकों से स्वस्थ रहने और पर्यावरण को स्वच्छ रखने की अपील की गई।