नेपाल में बाघों की संख्या होने वाली है दोगुनी


File Image | Pixabay.com

सूरत। राष्ट्रिय संरक्षण दिवस पर नेपाल में बाघों की संख्याओं के आंकड़े जारी किए हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक नेपाल में बाघों की संख्या लगभग दोगुनी हो गयी है. इससे पूर्व बाघों की गणना २००९ में हुई थी. उस वर्ष देश में १२१ बाघ पाए गए थे जबकि वर्ष २०१३ में १९८ बाघ पाए गए थे. नवम्बर २०१७ से अप्रैल २०१८ तक की गयी इस गणना में यही आंकड़ा २३५ पर पहुँच गया है. वर्ष २०२२ तक यह संख्या २४२ से भी अधिक जा सकती है.

नेपाल के वन एवं पर्यावरण मंत्रालय के सचिव ने कहा कि वे दुनिया भर में बाघों को बचने के काम में लगे हुए हैं और नेपाल में जो सफलता हमें मिली है वो हमारी प्रतिबद्धता दर्शाती है. बाघों की रक्षा ही हमारा ध्येय है और इस ध्येय में हमारा साथ देने वाले सभी सहयोगियों का वे आभार व्यक्त करते हैं.

नेपाल की इस सफलता और इसे हासिल करने के लिए उठाये गए कदमों की सराहना अंतर्राष्ट्रीय मीडिया में भी हो रही है. विश्व-भर के पर्यावरण-वादी संगठन नेपाल की सराहना कर रहे हैं और वन्य-जीवन के संरक्षण में उनका सहयोग चाहते हैं. हॉलीवुड अभिनेता लेओनार्दो दी-कैप्रियो, जो स्वयं पर्यावरण और वन्य-जीवन के बचाव के लिए और इनके प्रति जागरूकता फ़ैलाने के लिए अपनी संस्था ‘दी-कैप्रियो फाउंडेशन’ के साथ लगातार प्रयास कर रहे हैं, ने भी नेपाल की तारीफ की. उन्होंने कहा कि उन्हें गर्व है कि उनकी संस्था ने नेपाल की स्थानीय संस्थाओं के साथ संगठित होकर इस योजना को सफल बनाया.