‘विमान बांग्लादेश’ की फ्लाइट के अपहरणकर्ता के पास थी नकली पिस्टल, ऑपरेशन में ढेर


सामने आई हैरान कर देने वाली कहानी

ढाका (ईएमएस)। बांग्लादेश की हवाई सेवा ‘विमान बांग्लादेश’ को एक अपहरणकर्ता ने नकली पिस्टल से हाईजैक कर लिया लेकिन पुलिस ने ऑपरेशन में वह ढेर हो गया।

जानकारी के अनुसार रविवार को ढाका से दुबई जा रहे ‘विमान बांग्लादेश’ की एक फ्लाइट को हाइजैक करने की कोशिश में मारे गए शख्स के पास खिलौना पिस्टल थी और उसके पास से कोई विस्फोटक भी बरामद नहीं किया गया है। मालूम हो कि ढाका से विमान के उड़ान भरने के करीब आधे घंटे बाद एक बंदूकधारी कॉकपिट में घुस गया था। इसके बाद चिटगांव के शाह अमानत इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विमान की इमर्जेंसी लैंडिंग कराई गई।

बांग्लादेश पुलिस ने सोमवार को इसकी जानकारी देते हुए कहा कि मामले की जांच की जा रही है। गौरतलब है कि सुरक्षाबलों की गोलीबारी में 25 साल का हाइजैकर महादी घायल हो गया था और बाद में उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने हाइजैकर के विमान के अपहरण की जो कहानी बताई है, वह हैरान करने वाली है। एयरपोर्ट मैनेजर विंग कमांडर सरवर-ए-जमां ने बताया कि शख्स मानसिक तौर पर अस्थिर था। उन्होंने कहा, शख्स ने पत्नी से मनमुटाव को हाइजैक का कारण बताया और वह पीएम शेख हसीना से बात करना चाह रहा था।

उल्लेखनीय है कि ढाका से विमान के उड़ान भरने के करीब आधे घंटे बाद एक बंदूकधारी कॉकपिट में घुस गया। इसके बाद चिटगांव के शाह अमानत इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर विमान की इमर्जेंसी लैंडिंग कराई गई। विमान को बांग्लादेशी सुरक्षाकर्मियों ने चारों तरफ से घेर लिया और थोड़ी देर में सभी 134 यात्रियों और 14 क्रू मेंबरों को सुरक्षित निकाल लिया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक ढाका से उड़ान भरने के करीब आधे घंटे के बाद एक यात्री ने बंदूक लहराना शुरू कर दिया, जिसके बाद विमान में हड़कंप मच गया था।

एक यात्री ने पत्रकारों को बताया था कि हाइजैकर ने शायद दो बार फायरिंग भी की थी लेकिन सिविल एविएशन अथॉरिटी के चेयरमैन एयर वाइस मार्शल नईम हसन ने कहा कि शख्स के पास जो पिस्टल थी वह असली नहीं थी। उन्होंने कहा, शख्स के पास जो पिस्टल थी वह नकली थी। अधिकारी अब इस बात की जांच करने में जुटे हैं कि शख्स कैसे नकली पिस्टल लेकर विमान में चढ़ा। हसन ने कहा, सुरक्षा व्यवस्था को धता बता पाना लगभग असंभव है क्योंकि सिस्टम अंतरराष्ट्रीय नागरिक विमानन संगठन द्वारा बनाया गया है। उन्होंने बताया कि बांग्लादेश में हवाईअड्डों की सुरक्षा विश्वस्तरीय मानकों के तहत की जाती है और अंतरराष्ट्रीय फर्मों से इसकी जांच भी कराई जाती है।