हड़ताल से जनजीवन प्रभावित, 150 गिरफ्तार


काठमांडो। नेपाल में नेत्र बिक्रम चंद की अगुवाई वाले सीपीएन माओवादी गुट के प्रदर्शन विरुद्ध गिरफ्तार किए गए कार्यकर्ताओं की रिहाई के वास्ते दबाव बनाने के लिए हड़ताल के दौरान वाहनों में तोड़फोड़ के आरोपी १५० से अधिक सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया। हड़ताल से जनजीवन प्रभावित हुआ। प्रदर्शनकारियों ने आहूत हड़ताल का उल्लंघन करने के लिए राजधानी के अलग अलग हिस्सों में नौ सार्वजनिक बसों और टौqक्सयों में तोड़फोड़ की। एक ट्रक चालक तब घायल हो गया जब माओवादी सदस्यों ने रौताहाट जिले में एक चलते वाहन पर पेट्रोल बम पेंâका। हड़ताल के कारण सड़कों पर बहुत कम ही सरकारी एवं निजी वाहन नजर आए। स्वूâल और कॉलेज बंद रहे। यद्यपि हड़ताल के बावजूद राजधानी में ज्यादातर स्थानों पर बाजार खुले रहे। काठमांडो मेट्रोपालिटन पुलिस क्षेत्र के अनुसार पुलिस ने काठमांडो, भक्तापुर और ललितपुर से ६२ प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया। करीब ९० आंदोलनकारियों को सरलाही, कास्की, कालीकोट, सुनसरी, बांके और चितवन जिलों से गिरफ्तार किया गया क्योंकि वे हड़ताल लागू कराने का प्रयास कर रहे थे। राजधानी में अप्रिय घटना को रोकने के लिए जगह जगह बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। सीपीएन माओवादी मुख्य माओवादी पार्टी से अलग हुआ गुट है। सरकार के खिलाफ दस साल तक उग्रवाद में शामिल रहने के बाद माओवादी वर्ष २००६ में मुख्य धारा की राजनीति में आ गए थे।