सीरिया में 10 लाख से अधिक लोग मुसीबत में फंसे


न्यूयॉर्वâ । सीरिया में १० लाख से भी अधिक लोगों के पंâसे होने का दावा किया गया है। इस संबंध में संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट को चुनौती देते हुए एक ताजा रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में घिरे हुए लोगों की संख्या इससे आधी बताई गई थी । संयुक्त राष्ट्र की उस रिपोर्ट पर सहायता समूहों ने संकट को कम आंकने का आरोप संयुक्त राष्ट्र पर लगाया था। इन पंâसे हुए लोगों की किस्मत का पैâसला अब २५ फरवरी को होने वाली शांति वार्ता में होगा। पिछले सप्ताह जिनेवा में ऐसी वार्ता विफल हो गई थी। विपक्ष ने वार्ता के सही मायनों में शुरू होने तक सीरियाई सरकार से नागरिकों की घेराबंदी नहीं करने का अनुरोध किया है। नीदरलैंड ाqस्थत सहायता समूह `पीएएक्स’ और वािंशगटन ाqस्थत सीरिया संस्थान द्वारा मंगलवार को रिपोर्ट जारी की गई।
सीज वॉच की इस रिपोर्ट में युद्धग्रस्त क्षेत्रों में पंâसे हुए कमजोर बच्चों और वयस्कों की तस्वीरें ऑनलाइन जारी होने के एक माह बाद आई है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर तस्वीरों के जारी होने के बाद काफी अफरा तफरी मची थी और इन सीरियाई समुदायों की मदद के लिए कुछ सहायता दल भी रवाना किए गए। सीज वॉच की रिपोर्ट में सीरिया के ४६ घिरे हुए क्षेत्रों में लगभग १० लाख ९० हजार लोग पंâसे हुए हैं। संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट में केवल १८ घिरे हुए इलाकों का जिक्र है। संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के इलाके मुख्यत: सीरियाई सरकार की घेराबंदी में हैं।