समुद्र में मिला मलबा हो सकता है 16वीं सदी का


दुबई । अरब सागर में ओमान के तट पर मिला जहाज का मलबा ५०० साल पुराना हो सकता हैं। अनुमान लगाया जा रह है कि भारत तक पहुंचने के लिए समुद्री मार्ग खोजने वाले पुर्तगाली नाविक वास्कोडिगामा के बेड़े में शामिल जहाज का है। वर्षो पहले अरब सागर में ओमान के तट पर जहाज का मलबा मिला था। १६वीं सदी में पुर्तगाली नाविक ने दूसरी बार भारत की यात्रा की थी। हाल ही में हुए एक नए अध्ययन में इस आशय का अनुमान जाहिर किया गया है। १९९८ में जहाज का मलबा अरब सागर में अल हानियाह द्वीप के तट पर मिला था। डूबे पोत के बारे में और जानकारी सामने लाने के लिए तीन वर्षो तक एक पुरातााqत्वक खोज जारी रही। अनुसंधान करने वालों का मानना है कि उन लोगों ने इस्मेराल्डा नाम के पोत का मलबा खोज निकाला है। इस्मेराल्डा पोत मशहूर खोजी की दूसरी बार भारत यात्रा में शामिल था और तूफान में पंâसने के कारण यह पोत तबाह हो गया था। सीएनएन के मुताबिक अध्ययन में कहा गया है, ‘खाड़ी में मलबा जहां से मिला है वह जगह भौगोलिक रूप से बिलकुल सटीक बैठता है। इसी जगह पर इस्मेराल्डा और दूसरा जहाज साओ पेड्रो तबाह हो गए थे।’