संतानोत्पत्ति के लिए ही होती हैं महिलायें


-तुर्की के राष्ट्रपति तैय्यप एरदोगन ने परिवार नियोजन का बहिष्कार करने को कहा
इस्तांयूल। तुर्की के राष्ट्रपति तैय्यप एरदोगन ने लैंगिक समानता और परिवार नियोजन कार्यक्रमों को इस्लाम विरोधी बताते हुए कहा कि महिलाएं संतानोत्पत्ति के लिए ही होती हैं। एरदोगन ने मुसलमानों से परिवार नियोजन या जनसंख्या नियंत्रण के कार्यक्रमों में शामिल नहीं होने की बात भी कही। उन्होंने ज्यादा से ज्यादा बच्चे पैदा करने को मुसलमानों के लिए पवित्र कार्य बताते हुए कहा कि परिवार नियोजन को पाqश्चम की देन बताया। जिसमें किसी भी मुाqस्लम परिवार को शामिल नहीं होना चाहिए। उधर महिला संगठनों और विपक्षी नेताओं ने एरदोगन के इस बयान की आलोचना की है। उनका कहना है एरदोगन का यह बयान लैंगिक समानता के खिलाफ है। एरदोगन इस तरह के बयान पहले भी दे चुके हैं, उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण के प्रयासों को राजद्रोह करार दिया था। तुर्की की बहुसंख्यक आबादी मुसलमानों की है। लेकिन इस देश में बीते कई दशकों से कुर्द अधिकारों को लेकर संघर्षरत हैं। इसके कारण हुई िंहसा में अब तक ४० हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। एरदोगन ने देश में सक्रिय कुर्द विद्रोहियों को हथियार देने का आरोप रूस पर लगाया।