श्रीलंका के नए राष्ट्रपति होंगे मैत्रीपाला, पीएम मोदी ने दी बधाई 


– मिंहदा राजपक्षे ने स्वीकारी हार
कोलंबो । श्रीलंका में हुए राष्ट्रपति चुनाव में बड़ा उलटपेâर होते हुए सत्ता परिवर्तन हो गया है। मौजूदा राष्ट्रपति मिंहदा राजपक्षे चुनाव हार गए हैं। राजपक्षे ने अपनी हार मान ली है और अपना सरकारी आवास भी खाली कर दिया है। राष्ट्रपति चुनाव में राजपक्षे का सीधा मुकाबाल उनके पूर्व सहयोगी रहे मैत्रीपाला सिरिसेना से था। मैत्रीपाला को चुनाव में जीत मिली है। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के लोगों को शांतिपूर्ण मतदान के लिए बधाई दी है। उन्होंने राष्ट्रपति चुनाव जीतने पर मैत्रीपाला सिरीसेना को फोन कर उन्हें बधाई भी दी है। पीएम मोदी ने पड़ोसी देश के भावी राष्ट्रपति से कहा है कि भारत श्रीलंका में विकास के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। श्रीलंका में गुरुवार को ही राष्ट्रपति पद के लिए मतदान हुआ था। चुनाव अधिकारियों ने बताया कि अधिकतर जगहों पर ६५-७० प्रतिशत से अधिक मतदान हुआ। चुनाव मैदान में कुल १९ उम्मीदवार थे।

– तमिल वोटों ने बिगाड़े समीकरण
श्रीलंका के तमिल राजनीतिक समूहों ने सिरीसेना की उम्मीदवारी की हिमायत की थी। कुछ कट्टरपंथी बौद्ध समूहों के सामने आने के बाद िंहसा से िंचतित मुाqस्लम र्पािटयां भी राजपक्षे के विरोध में खड़ी हो गई थीं। इसके अलावा राजपक्षे पर भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद के भी आरोप लगे थे। इस चुनाव में तमिल और मुाqस्लम इलाकों में असाधारण रूप से भारी मतदान हुआ और यही कारण रहा कि राजपक्षे के हाथ से सत्ता चली गई। लिट्टे के पूर्वी गढ़ किलिनोच्ची में बड़ी संख्या में लोग पोिंलग बूथ पर पहुंचे थे।