शार्ली एब्दो कवर पर तुर्की पत्रकारों को जेल संभव


अंकारा। तुर्की के `कुमहुरिएट’ अखबार ने कहा है कि उसके दो पत्रकारों पर “लोगों के र्धािमक मूल्यों के अपमान” का आरोप लगाया है क्योंकि उन्होंने अपने स्तंभों में प्रâांसीसी व्यंग्य पत्रिका शार्ली एब्दो के उस कवर को प्रकाशित किया था, जिसमें पैगंबर मुहम्मद का विवादित कार्टून था। धर्मनिरपेक्षता समर्थक इस अखबार ने गुरूवार को कहा कि स्तंभकार सीडा करन और हिकमत सेटिनकाया को दोषी पाए जाने पर साढ़े चार साल तक की जेल की सजा हो सकती है। `कुमहुरिएट’ ने शार्ली एब्दो के दफ्तर पर इस साल सात जनवरी को हुए जानलेवा हमले के बाद उसके प्रति एकजुटता दिखाने के लिए कई कार्टून और आलेख प्रकाशित किए थे। अखबार ने विवादित कवर तो प्रकाशित नहीं किया था लेकिन दोनों पत्रकारों ने कवर की मुद्रित प्रतियां अपने स्तंभ के हेडर के तौर पर इस्तेमाल की थीं।