विस्फोटक के करीब आते ही चमक बिखेरगा यह उपकरण


लंदन । अब आतंकी हमलों को रोकने एक बेहतर उपरकण बनाया जा रहा है। विस्फोटकों के करीब लाये जाने पर यह उपकरण चमकने लगता है। यूनिर्विसटी ऑफ सदर्न डेनमार्वâ के वैज्ञानिकों ने इस नए पदार्थ की खोज की है। इसकी सहायता से विस्फोटक की जांच के लिए छोटे और सस्ते उपकरण बनाए जा सवेंâगे। वैज्ञानिकों ने बताया कि इस नए पदार्थ में टीटीएफ-सी(४)पी और टीएनडीसीएफ के अणु शामिल हैं। जैसे ही विस्फोटक के अणु इस पदार्थ के संपर्वâ में आते हैं, टीएनडीसीएफ के अणु चमकने लगते हैं। शोधकर्ता स्टीफन बहउरग ने कहा, ‘इस नई खोज के आधार पर इन अणुओं के संयोग से छोटे उपकरण बनाए जा सवेंâगे। इसके जरिये जांचकर्मी यह जान सवेंâगे कि किसी बैग में या उसके आसपास कोई विस्फोटक है या नहीं।’ विस्फोटकों की पहचान के लिए वैज्ञानिकों ने पहले भी कुछ रसायनों की खोज की लेकिन कुछ प्रक्रियागत खामियों के कारण ऐसे अणुओं के प्रयोग से कारगर उपकरण विकसित करना संभव नहीं हो सका। वैज्ञानिकों का कहना है, नई तकनीक में पहले की खामियों को दूर करने में सफलता मिली है।