वाईपीजी हमले में आईएसआईएस के 35 आतंकी ढेर


दमिश्क । सीरिया की मुख्य र्कुिदश सशस्त्र दल के साथ कोबाने कस्बे में हुए संघर्ष में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के कम से कम ३५ आतंकवादी मारे गए। एक निगरानी दल ने इसकी जानकारी दी। सीरिया पर मानवाधिकार निगरानी संस्था ने बताया है कि कोबाने के देहाती क्षेत्र अयन अल-अरब में हुए संघर्ष में र्कुिदश पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट (वाईपीजी) के चार लड़ाके भी मारे गए। लंदन ाqस्थत मानवाधिकार निगरानी संस्था ने कहा है कि वाईपीजी का अब सीरिया के उत्तरी प्रांत अलेप्पो के उत्तर पूर्वी देहाती क्षेत्र के २००० वर्ग किलोमीटर पर नियंत्रण है। कुर्द लड़ाकों को कुछ विद्रोही गुटों का भी समर्थन हासिल है। लड़ाकों ने जनवरी से पहले कुर्द बहुल इलाके की एक बड़ी पट्टी को आईएस के कब्जे से छुड़ा लिया है। कस्बे पर दोबारा कब्जा करने के बाद वाईपीजी बलों ने कोबाने के आसपास के देहाती क्षेत्र पर अपना नियंत्रण विस्तार करने में जुटा हुआ है। इस क्रम में आतंकवादियों की तरफ से उन्हें मुकाबला तो किया है लेकिन आतंकवादियों की शक्ति कमजोर रही है। आईएस ने पिछले साल कोबाने पर बड़ा हमला किया था। इस शहर के रणनीतिक महत्व और सीरिया-तुर्की सीमा पर होने के कारण आईएस ने कब्जा करने की कोशिश की थी। अमेरिका नीत हवाई हमले और वाईपीजी के प्रयासों एवं शहर के अन्य गुटों ने आईएस आतंकवादी गुट को कमजोर कर दिया। निगरानी संस्था के मुताबिक, एक महीने से ज्यादा समय से चल रहे संघर्ष के कारण कोबाने का करीब ७० फीसदी हिस्सा बर्बाद हो चुका है।