लापता मलेशियाई विमान का रहस्य बरकरार


कुआललुपुर। मलेशियन फ्लाइट एमएच-३७० को लापता हुए दो साल बीत गये हैं, लेकिन अभी तक उसका कोई पता नहीं मिला है। इस विमान का रहस्य गहराता जा रहा है। इस विमान के बारे में अक्सर नई-नई कहानियां सामने आती रहती हैं। कभी किसी ने कहा कि फ्लाइट का आतंकियों ने अपहरण कर लिया है और अफगानिस्तान के दुर्गम पहाडी इलाके में छुपा कर रखा है। तो किसी ने कहा कि इस विमान के रूसी राष्ट्रपति पुतिन के आदेश पर मार गिराया। तो किसी ने कहा कि इस विमान को एलियंस अपने साथ ले गये हैं हालांकि दुनिया भर के वैज्ञानिकों के लिए पहली बने इस विमान की खोज अब भी जारी है। जहां से भी कोई जानकारी मिलती है, तुरंत मलेशियन खोजकर्ता वहां पहुंच जाते हैं, लेकिन हर बार की तरह वो खाली हाथ ही वापस लौटते हैं। मलेशिया के इस खोज अभियान में ऑस्ट्रेलिया अभी तक लगा हुआ है। वहीं ऑस्ट्रेलियन ट्रांस्पोर्ट सेफ्टी ब्यूरो के चीफ कमिश्नर र्मािटन डोलान का कहना है कि हमने पूरे पेशेवर तरीके से मलेशियन विमान की खोज कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमें अपनी आलोचना भी पसंद है, लेकिन कुछ लोग मजाक बनाते हैं और बिना सोचे-समझे हमारी मजाक बनाते हैं। अधिकारिक जानकारी के मुताबिक कुआलालंपुर से बीिंजग जा रही इस उड़ान ने दक्षिण की ओर उडान भरी थी हालांकि लेकिन कुछ लोगों का कहना है कि उड़ान एशिया की तरफ उत्तर की दिशा की ओर गयी थी और सैटेलाइट से जो डाटा मिले हैं उन्हें टेम्पर किया गया है।