लश्कर और जैश जैसे आतंकी संगठनों पर नरम है पकिस्तान


वािंशगटन ।  पाकिस्तान ने भारत में हमलों के लिए जिम्मेदार लश्कर ए तैयबा और जैश ए मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ पर्याप्त कार्रवाई नहीं की है। यह आंकलन अमेरिका का है जिसका मानना है कि आतंकी संगठन पाकिस्तान में लगातार संचालित, संगठित हो रहे हैं तथा कोष जुटा रहे हैं।
अमेरिकी विदेश विभाग ने अपनी र्वािषक रिपोर्ट `आतंकवाद पर देशवार रिपोर्ट २०१५’ में कहा कि पाकिस्तानी सेना और सुरक्षाबलों ने पाकिस्तान के भीतर हमले करने वाले तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान जैसे संगठनों के खिलाफ अभियान चलाए हैं लेकिन देश के बाहर ध्यान कोqन्द्रत करने वाले आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की है।
रिपोर्ट में कहा गया है कि लश्कर ए तैयबा से जुड़े जमात उल दावा और फलाह ए इंसानियत फाउंडेशन जैसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकी संगठन पाकिस्तान में कोष जुटाने और रैलियां करने में समर्थ हैं। इसमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने अफगान तालिबान या हक्कानी के खिलाफ ठोस कदम नहीं उठाए। हालांकि पाकिस्तान ने दोनों समूहों को अफगान नीत शांति प्रक्रिया में शामिल होने के प्रयासों का समर्थन किया।
यह रिपोर्ट भारत के उन तथ्यों से मेल खाती है जिनमें पहले ही खुलासा कर दिया गया है कि पकिस्तान आतंकियों की शरणस्थली है।