योग गुरु चौैधरी ने यौन उत्पीड़न के आरोपों को गलत बताया


न्यूयार्वâ। अमेरिका में रहने वाले भारतीय मूल के योग गुरु विक्रम चौधरी ने छह पूर्व छात्राओं द्वारा लगाए गए बलात्कार और यौन उत्पीड़न के आरोपों को गलत बताया है। उन्होंने कहा है कि वह किसी के भी साथ ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि महिलाएं उन्हें प्यार करती हैं। गर्म कमरों में किए जाने वाले बिक्रम योग नामक अभ्यास के संस्थापक ६९ वर्षीय बिक्रम चौधरी ने कहा कि उन्होंने कभी महिलाओं का उत्पीड़न नहीं किया और वे अपने वकीलों के “प्रभाव” में आकर उन पर आरोप लगा रही हैं।
आरोपों के बाद अपनी पहली टिप्पणियों में चौधरी ने एक इंटरव्यू में कहा, “मैं दुनिया को सच बताना चाहता हूं कि मैंने कभी उनका उत्पीड़न नहीं किया। महिलाएं मुझे पसंद करती हैं और वे मुझसे प्यार करती हैं। अगर वह वाकई महिलाओं से जुड़ना चाहें तो उन्हें महिलाओं का उत्पीड़न करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि उन पर आरोप लगाने वाली महिलाओं को उनके वकीलों ने झूठ बोलने के लिए बरगलाया है।
चौधरी ने कहा, “मेरे मन में उनके खिलाफ कुछ नहीं है। मुझे नहीं लगता कि वे गलत हैं। यह बात वे नहीं कह रहीं। वे किसी के प्रभाव में हैं।” उन्होंने खुद को बेगुनाह साबित करने का संकल्प जताया लेकिन साथ ही यह भी कहा कि उनके परिवार को नुकसान पहले ही पहुंच चुका है। चौधरी ने कहा कि मेरी पत्नी “अब मेरी तरफ देखती भी नहीं। मेरे बच्चे, मेरी पत्नी..हम अपनी िंजदगी में सिर्पâ एक बार मरते हैं। मैं जब भी सुबह उठता हूं..मैं हर रोज मर रहा हूं।”