मुशर्रफ के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट


 

इस्लामाबाद। गुरुवार को यहां की एक स्थानीय अदालत ने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के खिलाफ गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया। यह वारंट वर्ष २००७ में लाल माqस्जद के मौलवी अब्दुल राशिद गाजी की हत्या के मामले में अदालत में पेश होने में मुशर्रफ के बार-बार विफल रहने पर जारी किया गया है।
इस्लामाबाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने पेशी से छूट का मुशर्रफ की अपील खारिज करते हुए उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया। अदालत ने सुनवाई २७ अप्रैल तक के लिए स्थगित कर दी। मुशर्रफ (७१) कराची में अपनी बेटी के साथ रहते हैं जहां कल उनकी चिकित्सा जांच हुई।
यह मामला वर्ष २००७ में लाल माqस्जद अभियान में मौलवी और उसकी मां के मारे जाने के संबंध मेेंं दर्ज किया गया था।गाजी उस समय मारा गया था जब सेना के कमांडो ने मुशर्रफ के आदेशों पर राजधानी ाqस्थत माqस्जद पर धावा बोला था।
मामले में मुशर्रफ का नाम था, लेकिन वह स्वास्थ्य एवं सुरक्षा कारणों का हवाला देकर कभी भी अदालत में पेश नहीं हुए। मुशर्रफ २०१३ का आम चुनाव लड़ने के लिए पांच साल के स्व निर्वासन के बाद दुबई से पाकिस्तान लौटे थे। तब से उन पर कई अदालती मामले चल रहे हैं।