मुशर्रफ की संपत्ति जब्त करने का आदेश


इस्लामाबादपाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह मामले की सुनवाई कर रही अदालत ने उनकी संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया है। अदालत में पेश नहीं होने पर यह आदेश दिया है।

मुशर्रफ देश से बाहर जाने पर लगी रोक हटते ही इस साल मार्च में अपना इलाज कराने के लिए दुबई चले गए। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें प्रतिबंध से राहत दी थी। वह देशद्रोह के अलावा 1999 में तख्तापलट करने, 2007 में पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या और इस्लामाबाद में सैन्य अभियान में एक प्रमुख मौलवी के मारे जाने के मामलों का सामना कर रहे हैं।

इन मामलों की सुनवाई कर रही विशेष अदालत की तीन सदस्यीय बेंच ने मंगलवार को मुशर्रफ के पेश नहीं होने पर उनके बैंक खातों को सीज और संपत्ति जब्त करने का आदेश पारित किया। इसी तरह का एक आदेश 2011 में भुट्टो हत्या मामले में भी दिया गया था।

विशेष अदालत की अध्यक्षता कर रहे पेशावर हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस मजहर आलम मियांखेल ने मुशर्रफ की गिरफ्तारी या सरेंडर होने तक कार्यवाही स्थगित कर दी। डॉन अखबार के अनुसार, पूर्व राष्ट्रपति के वकील ने दलील दी कि मुशर्रफ की सेहत ठीक नहीं है और कोर्ट के समक्ष पेश नहीं हो सकते हैं।