भारतवंशी छात्रा को साहित्य अवार्ड


िंसगापुर । िंसगापुर में कहानी लेखन प्रतियोगिता में भारतवंशी नौ वर्षीय छात्रा सामिया खान ने प्रथम पुरस्कार अपने नाम किया है। इस प्रतियोगिता के अंतिम दौर का आयोजन िंहदी प्रेरणा पुरस्कार के उद्घाटन सत्र में किया गया। सामिया ने ८-१२ वर्ष के आयुवर्ग में पुरस्कार जीता। गौरतलब है कि िंसगापुर में उत्तरी भारतवंशी छात्रों के लिए िंहदी दूसरी अनिवार्य भाषा के तौर पर पढ़ाई जाती है। चौथी कक्षा की छात्रा सामिया अपने पिता मोहम्मद शारिक खान और मां शीबा खान से Eिहंदी सीखने के लिए प्रेरित हुई। सामिया ने कहा कि अब वह मुंबई में अपने दादा-दादी से उहदी में बात करती है। भारतीय उच्चायुक्त विजय ठाकुर िंसह ने सामिया को यह पुरस्कार दिया। पुरस्कार की संस्थापक ममता मंडल ने कहा कि युवा समूह में अंशुल तुकोल ने कहानी लेखन का पुरस्कार जीता। अंजलि त्रिपाठी ने १६ साल से बड़े बच्चों के वर्ग में पुरस्कार जीता। कविता, संबोधन और लेखन तीनों श्रेणियों में इनाम जीतकर छात्र संजय कुमार शीर्ष स्थान पर रहें। करीब तीन महीने तक विभिन्न स्तरों पर हुई प्रतियोगिता में िंसगापुर के स्वूâलों के १०० से भी अधिक छात्रों ने हिस्सा लिया था।