प्रतिबंध के बावजूद भी जारी हैं जमात उद दावा की गतिविधियां


कराची। मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के संगठन जमात उद दावा पर पाकिस्तान सरकार ने ेप्रतिबंध लगा दिया है लेकिन इसके बावजूद इस संगठन की गतिविधियां यहां खुलेआम जारी हैं। पाकिस्तान सरकार ने हाल में जमात उद दावा पर प्रतिबंध लगाया था। संगठन का कहना है कि वह लोगों के कल्याण के लिए काम करता है। इस बीच पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त टी.सी.ए राघवन ने आरोप लगाया है कि पाकिस्तान में आतंकवादी संगठन आजादी के साथ घूम रहे हैं और ऐसे में दोनों पड़ोेसी देशों के बीच वार्ता फिर शुरू होना मुाqश्कल है। राघवन ने गणतंत्र दिवस के मौके पर भारतीय उच्चायोग में एक समारोह में कहा कि असल मुद्दा वार्ता आयोजित करने का नहीं है बाqल्क यह है कि इस प्रक्रिया को कौन फिर से शुरू करेगा।
हाल ही में जमात उद दावा के प्रमुख मोहम्मद हाफिज सईद ने निशुल्क एंबुलेंस सेवा कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर पत्रकारों से कहा कि कल्याणकारी कार्य हमारे लिए महत्वपूर्ण है और इसी के लिए हम पाकिस्तान में जाने जाते हैं। ग्रामीण और आपदाग्रस्त इलाकों में इस तरह की कई परियोजनाओं को शुरू करने के बाद हमारी योजना अब इन परियोजनाओं की पहुंच ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने की है। उसका संगठन प्रशासन और क्षेत्र के लोगों की तरफ से किसी भी परियोजना में किसी तरह की रुकावट का सामना नहीं कर रहा है।