नेतन्याहू के आने से पाक के पेट में हुआ दर्द: कहा दोनों देश इस्लाम के दुश्मन


पाक के विदेशमंत्री ख्वाजा आसिफ ने कहा
इस्लामाबाद (ईएमएस)। पिछले साल 2017 जुलाई में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजरायल दौरे पर गए,ये वो मौका था जब किसी भारतीय राष्ट्राध्यक्ष ने पहली बार वहां की धरती पर कदम रखा। इसके महज 6 महीने के अंदर ही अब इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू 6 दिन के दौरे पर भारत पहुंचे हैं। लेकिन भारत और इजरायल की बढ़ती दोस्ती पड़ोसी पाकिस्तान को बिल्कुल रास नहीं आ रही है। पाक को पेट में दर्द हो रहा है। इसकारण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बेंजामिन नेतन्याहू की गहरी होती दोस्ती को पाक ने फिलीस्तीन और कश्मीर से जोड़ दिया है। पाक के विदेशमंत्री ख्वाजा आसिफ ने दोनों देशों की नजदीकियों के पीछे इस्लाम और मुस्लिमों के प्रति उनकी दुश्मनी को वजह करार दिया है।
पाकिस्तानी न्यूज चैनल को दिए एक इंटरव्यू में ख्वाजा आसिफ ने कहा,इजरायल और भारत का साथ आना स्वाभाविक बात है। क्योंकि दोनों मुल्क इस्लाम और मुस्लिमों की दुश्मनी के नाते एक जैसे हैं। दोनों देशों का ताल्लुक बहुत पुराना है। इतना ही नहीं ख्वाजा आसिफ ने बेंजामिन के दौरे पर भी कश्मीर राग अलाप दिया। उन्होंने कहा कि दोनों मुल्क कई मायनों में एक जैसे हैं।एक ने कश्मीर की धरती पर कब्जा किया हुआ है,जबकि दूसरा फिलीस्तीन में अवैध ढंग से कब्जा कर वहां की जनता पर जुल्म कर रहा है। हालांकि पाकिस्तानी विदेश मंत्री दोनों देशों की दोस्ती पर अलर्ट भी नजर आए। उन्होंने कहा कि हम भारत-इजरायल के रिश्तों पर पैनी नजर रख रहे हैं और इस गठजोड़ से निपटने में भी सक्षम हैं।
बात दे कि इन दिनों इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू भारत के दौरे पर आए हुए हैं,इस दौरे के दौरान पीएम मोदी और इजरायल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू के बीच गहरी दोस्ती देखने में मिल रही है। इजरायल तकनीक और हथियार के मामले में दुनिया का सबसे ताकतवार देश हैं इसकारण इजरायल की भारत से बढ़ती दोस्ती से पाक को दर्द होना एक स्वाभाविक बात है।