दक्षिण कोरिया ने खोजा हाइड्रोजन बम का जवाब


सियोल । हाल ही में उत्तर कोरिया द्वारा हाइड्रोजन बम का सफल परीक्षण किया गया। इसके जवाब में दक्षिण कोरिया ने मनौवैज्ञानिक जंग का एलान किया है। दक्षिण कोरिया के एक सैन्य अधिकारी के मुताबिक शुक्रवार से सीमा पर लाउडस्पीकर लगाकर पड़ोसी देश के खिलाफ प्रचार की शुरुआत की जाएगी। बीते साल अगस्त में इसके कारण दोनों देशों के बीच युद्ध की नौबत पैदा हो गई थी। परीक्षण को लेकर दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति पार्वâ ग्यून येई ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से फोन पर बातचीत की। अमेरिका से कोरियाई प्रायद्वीप में अत्याधुनिक हथियारों की तैनाती को लेकर मदद मांगी गई है। २०१३ में उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण के बाद अमेरिका ने इस क्षेत्र में परमाणु क्षमता से लैस बी-२ स्टील्थ बमवर्षक विमान भेजे थे। ओबामा ने जापानी प्रधानमंत्री िंशजो एबी से भी बात की। इस दौरान उत्तर कोरिया को कड़ा जवाब देने पर सहमति बनी। दक्षिण कोरिया ने संयुक्त औद्योगिक क्षेत्र केसोंग में उत्तर कोरियाई नागरिकों के प्रवेश पर भी आंशिक प्रतिबंध भी लगा दिया गया है। इस क्षेत्र में १२० दक्षिण कोरियाई वंâपनियों में ५२ हजार से ज्यादा उत्तर कोरियाई काम करते हैं। वहीं, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया के इस कदम की कड़ी िंनदा करते हुए इसे अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए स्पष्ट खतरा बताया है।