डोनाल्ड ट्रंप भी नोबेल शांति पुरस्कार के दावेदार


नॉर्वे । इस साल नोबेल शांति पुरस्कार समिति को दो सौ से अधिक नामांकन प्राप्त हुए हैं। इनमें अमेरिकी राष्ट्रपति उम्मीदवारी के रिपाqब्लकन दावेदार डोनाल्ड ट्रंप भी शामिल हैं। अरबपति कारोबारी हाल के समय में अपने मुाqस्लम विरोधी बयानों को लेकर र्सुिखयों में रहे हैं। उनका अतीत भी सनकी, गुस्सैल और पत्नी को प्रताड़ित करने वाले शख्स का रहा है। खबर के अनुसार २९ फरवरी को पुरस्कार समिति की पहली बैठक होनी है। इस बैठक में समिति के सदस्य उन दावेदारों का चयन करेंगे जिनके बीच शांति पुरस्कार हासिल करने की स्पर्धा होनी है। जानकारी के मुताबिक आईएस, इस्लामी कट्टरपंथ, चीन, ईरान जैसे खतरों से निपटने के लिए मजबूत विचारधारा सामने रखने के कारण ट्रंप को यह पुरस्कार देने की अपील की गई है। हालांकि यह साफ नहीं है कि समिति के पास उनके नाम का प्रस्ताव किसने भेजा है। इसके अलावा समिति को पोप प्रâांसिस, आईएस की यौन प्रताड़ना की शिकार हुई नादिया मुराद, अफगानिस्तान की महिला साइकिलिस्ट टीम, ग्रीक द्वीपों के निवासी, ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रमुख अली अकबर सालेही जैसे लोगों के पक्ष में भी नामांकन मिले हैं।
खबरों के अनुसार नार्वे के एक सांसद ने नादिया मुराद को पुरस्कार देने का प्रस्ताव भेजा है। नोबेल विजेता डेसमंड टूटू ने पोप का नाम आगे बढ़ाया है। वहीं, इटली के ११८ सांसदों ने अफगान साइकिल टीम को शांति पुरस्कार देने की वकालत की है। ग्रीक द्वीप के निवासियों को शरर्णािथयों की मदद के लिए यह पुरस्कार देने के लिए कई देशों से प्रस्ताव आए हैं। इनके समर्थन में ऑनलाइन अभियान भी चलाया जा रहा है, जिसे अब तक छह लाख से ज्यादा लोगों का समर्थन मिल चुका है। तुर्की से आने वाले लोगों का पहला पड़ाव ग्रीस ही है।