टैबलेट, लैपटॉप पर पढ़ने से बदलती है सोच


वॉिंशगटन। वंâप्यूटर, लैपटॉप या टैबलेट पर पढ़ने से सोचने के तरीके में बदलाव आता है। ताजा अध्ययन के मुताबिक डिजिटल प्लेटफॉर्म पर पढ़ने वाले लोग संबंधित विषय की सूक्ष्म व्याख्या करने के बजाय ठोस सूचना हासिल करने के प्रति ज्यादा वेंâद्रित रहते हैं। इससे गूढ़ विचारों पर डिजिटल माध्यमों के प्रभाव का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है।
अमेरिका के डार्टमाउथ कॉलेज के विशेषज्ञ अर्थ की व्याख्या पर डिजिटल और गैर डिजिटल (लिखित सामग्री) माध्यमों का प्रभाव जानने की कोशिश में जुटे थे। इसके लिए दो समूहों को एक ही सूचना दोनों प्लेटफार्मों पर उपलब्ध कराई गई। इसमें २० से २४ साल के तीन सौ से ज्यादा प्रतिभागियों को शामिल किया गया था।
उन्हें एक ही लघु कहानी लिखित और पीडीएफ में उपलब्ध कराई गई। व्याख्यात्मक सवालों में लिखित सामग्री पढ़ने वालों ने ६६ फीसद सही जवाब दिए, जबकि लैपटॉप और टैबलेट पर पढ़ने वालों ने ४८ फीसद सवालों के ही जवाब दिए। ठोस जानकारी के सवालों में डिजिटल प्लेटफॉर्म पर पढ़ने वालों ने ७३ फीसद सवालों के सही जवाब दिए। लिखित तौर पर पढ़ने वाले ने ५८ प्रतिशत जवाब दिया।