जेल जाएंगी हिलेरी क्लिंटन


वािंशगटन । वर्ष २००८ में राष्ट्रपति बराक ओबामा से हारकर अपने राष्ट्रपति बनने के ख्वाब को चूर-चूर होता देखने वाली डेमोव्रेâट हिलेरी िंक्लटन का यह सपना फिर से टूट सकता है। बतौर अमेरिकी विदेश मंत्री रहते हुए हिलेरी ने सीव्रेâट इंफॉर्मेशन लीक करने के मामले में एफबीआई हिलेरी और उनके सहयोगियों से पूछताछ कर सकती है। उनके पर्सनल ई-मेल में मौजूद जानकारियों के लीक होने का मसला पिछले एक वर्ष से उठा रहा है। हिलेरी जब अमेरिकी विदेश मंत्री थीं तो वह पर्सनल सर्वर का प्रयोग करती थीं। माना जा रहा है कि उस सर्वर में कुछ ऐसी जानकारियां थीं जो अमेरिका के लिहाज से गोपनीय थीं। आपको बता दें कि अमेरिका के कानून में इंटेलीजेंस या फिर इससे जुड़ी जानकारियों को सार्वजनिक करना अपराध घोषित है। इस विवाद की शुरुआत में हिलेरी ने इससे पल्ला झाड़ लिया था। बाद में उन्होंने इस बात को स्वीकारा था कि वह अपने घर के सर्वर का प्रयोग कर रही थीं। अमेरिका में इस तरह के मामलों में सजा हो चुकी है। कई मामलों में गोपनीय जानकारियां जारी करने के दोषी लोगों को जेल भेजा जा चुका है। वर्ष २००९ में एक पूर्व सरकारी कॉन्ट्रैक्टर स्टीफन किम को एक रिपोर्टर को गोपनीय जानकारियां देने का दोषी पाए जाने के बाद १३ माह की सजा सुनाई गई थी।