चीन की नजर में मोदीराज में नहीं हुआ विकास


बीिंजग । चीन ने भारत की उन रिपोर्ट को नकारा दिया जिसमें उसने विश्व अर्थव्यवस्था में वृद्धि का नया अगुवा बनने का दावा किया था। इस संबंध में चीन की सरकारी मीडिया ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में मामूली प्रगति हुई है।
जानकारी के अनुसार चीन ने अपना दांवा ठोंकते हुए कहा है की उसकी अर्थव्यवस्था भारतीय अर्थव्यवस्था से पांच गुना बड़ी है। चीन के एक सरकारी अखबार ने एक आलेख में यह दावा किया है। इसमें लिखा है कि ‘भारतीय अर्थव्यवस्था चीन की अर्थव्यवस्था से आगे निकल जाएगी’ तथा ‘भारत विश्व अर्थव्यवस्था में वृद्धि का नया इंजन बनेगा’ जैसी अटकलें आम तौर पर सुनी जाती हैं। कुछ विशेषज्ञ तो यह भी कहते हैं कि चीन का मॉडल भारत की तुलना में कमतर है। आलेख में आगे लिखा गया है, ‘भारतीय अर्थव्यवस्था को बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर भारतीय अधिकारी व पाqश्चमी मीडिया अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को अपनी पूंजी चीन से निकालकर भारत में लगाने को उकसा रहे हैं जो भारतीय वृद्धि को प्रोत्साहित कर रहा है।’ इसके अनुसार, ‘हालांकि इस तरह की बातों से उन निवेशकों पर ज्यादा असर नहीं है जो कि मुनाफा कमाना चाहते हैं और सौदा लागत को कम रखना चाहते हैं।’ इस आलेख में सलाह दी गई है कि भारत के मॉडल की चीन के मॉडल से तुलना नहीं करनी चाहिए बाqल्क दोनों देशों के एक दूसरे के विकास अनुभवों से सीखना चाहिए।