एफबीआई कानूनी सीमा लांघ रही है : एपल


सैन प्रâांसिस्को । आईफोन विनिर्माता प्रौद्योगिकी वंâपनी एपल ने अमेरिका में नरसंहार करने वाले एक व्यक्ति के लाक आईफोन की जानकारी हासिल करने की अमेरिकी जांच एजेंसी की कानूनी लड़ाई की एक और तीखी आलोचना की है और कहा है कि एफबीआई की चालों से इस देश के संस्थापक भी हतप्रभ होंगे। एपल ने २२ मार्च को दक्षिण वैâलिर्फोिनया की एक अदालत में होने वाली सुनवाई से पहले एक लिखित बयान में अपनी बात रखी है। वंâपनी इस बात पर कायम है कि एफबीआई कानूनी सीमाएं लांघ कर उसे उस आतंकी फोन में दर्ज सूचनाओं की जानकारी हासिल करने में मदद के लिए बाध्य करना चाहती है। वह आतंकी वैâलिर्फोिनया में गत दिसंबर में नरसंहार करने के बाद सुरक्षा बलों की कार्रवाई में मारा जा चुका है।
एपल के वकील का कहना है, “’सरकार उक्त `आल रिट्स’ कानून के जरिए इतिहास के पुनर्लेखन की कोशिश कर रही है और इस कानून का उपयोग कानूनी प्रक्रिया में एक सीमित उपयोग के उपकरण के बजाय सर्वशक्तिमान जादू की छड़ी के तौर पर इस्तेमाल किया जा रहा है।” यह अधिनियम ऐसी ाqस्थति के लिए बनाया गया है जहां कोई अन्य विकल्प दिखता हो तो संघीय अदालतें किस इसके तहत किसी मामले में कोई कानून सम्मत निर्णय दे सकती है। वंâपनी ने कहा, “इस तरह सरकार का तर्वâ है कि अदालतें कानून को बंधक बना कर किसी भी निजी पक्ष को वह करने के लिए मजबूर कर सकती हैं जो कानून विभाग या एफबीआई चाहता हो।”