उत्तर कोरियाई राकेट मार गिरायेंगे जापान, दक्षिण कोरिया


टोक्यो। उत्तर कोरिया के रॉकेट लॉन्च करने की योजना पर जापान और दक्षिण कोरिया ने उसे कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है कि उनकी सीमा में आते ही रारॉकेट को गिरा दिया जाएगा। अंतरिक्ष कार्यक्रम के अंतर्गत रॉकेट छोड़ने की संयुक्त राष्ट्र को सूचना देने के उत्तर कोरिया के कदम से उसके नजदीकी देशों में जमकर गुस्सा है। वहीं उत्तर कोरिया ने कहा है कि वह ८ फरवरी से २५ फरवरी के मध्य रॉकेट लांच करेगा। पड़ोसी दक्षिण कोरिया ने उससे यह कार्य न करने के लिए कहा है। न मानने पर गंभीर परिणामें की चेतावनी भी दी है। वहीं जापान ने अपनी सेना को सतर्वâ करते हुए चेतावनी दी है कि रॉकेट यदि उसकी वायु सीमा में आया तो उसे मार गिराया जाएगा। पड़ोसी देश इसे उत्तर कोरिया का लंबी दूरी की मिसाइल का परीक्षण मान रहे हैं।
चार परमाणु परीक्षण करने के बाद उत्तर कोरिया ने अब अपने अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिए रॉकेट छोड़ने की बात कही है। माना जा रहा है कि उत्तर कोरिया पांच हजार किलोमीटर से ज्यादा दूरी की आइसीबीएम मिसाइल बनाने के लिए यह परीक्षण कर रहा है, जिसकी सीमा में अमेरिका भी होगा। इसी के चलते अमेरिका, जापान और दक्षिण कोरिया में िंचता है। इन देशों के उत्तर कोरिया से तनावपूर्ण संबंध हैं।
दक्षिण कोरिया ने कहा है कि इस तरह का परीक्षण संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का खुला उल्लंघन है। उल्लेखनीय है कि पूर्व में परमाणु परीक्षण करने के चलते उत्तर कोरिया पहले से ही संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंध झेल रहा है। जनवरी में किए हाइड्रोजन बम के ताजा परीक्षण के चलते उस पर नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी चल रही है। इस सिलसिले में जापानी प्रधानमंत्री िंशजो एबी इन दिनों अमेरिकी सरकार और अन्य देशों के साथ मिलकर कार्य कर रहे हैं। जापान के रक्षा मंत्री जनरल नाकातानी ने जापान सागर में तैनात अपने विध्वंसकों को उत्तर कोरिया के रॉकेट को सीमा में आते ही मार गिराने के निर्देश दिए हैं।