ईरान जासूसी आरोप में गिरफ्तार जाधव की जानकारी देगा पाकिस्तान को


इस्लामाबाद। ईरान कथित भारतीय जासूस की जानकारियां पाकिस्तान से साझा करेगा। उसे बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में अमेरिका समेत दूसरे राष्ट्रों को पाकिस्तान जानकारी दे चुका है। हालांकि भारत इन आरोपों को खण्डन करता चला आ रहा है। इस संबंध में दूसरे राष्ट्रों ने भी अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।
जानकारी के अनुसार भारत का दावा है कि कथित जासूस कुलभूषण जाधव को तीन मार्च को गिरफ्तार किया गया था। आरोप है कि वह भारत की रॉ के लिए काम करता था और उसे अलगाववादी नेताओं से मुलाकात के लिए ईरान के चाबहार बंदरगाह पर तैनात किया गया था। ईरान के अधिकारियों ने प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर पाकिस्तान को सूचित कर दिया है कि वे इसकी जांच कर रहे हैं कि जाधव पाकिस्तान में अवैध ढंग से घुसा या नहीं। भारत का दावा है कि भारतीय नागरिक जाधव को ईरान की धरती से उठाया गया। भारत, ईरान पर पाकिस्तानी एजेंसियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए दबाव डाल रहा है। भारत यह भी चाहता है कि अमेरिका, ब्रिटेन और प्रâांस भी ईरान को यह समझाने में सहयोग करें कि जाधव का ईरान की जमीन से अपहरण किया गया। इतना ही नहीं नई दिल्ली ने तेहरान को पाकिस्तान और भारत में से किसी एक को चुनने की धमकी भी दी है। इससे ईरान उलझन में है। विशेष र्आिथक क्षेत्र के रूप चाबहार बंदरगाह को विकसित करने में भारत अरबों रुपये खर्च कर रहा है। ओमान की खाड़ी ाqस्थत यह बंदरगाह पाकिस्तान को दरकिनार कर भारत को अफगानिस्तान और मध्य एशिया में व्यापार करने की सुविधा देता है। इसके अलावा भारत अपने तेल आयात का बड़ा हिस्सा ईरान से ही खरीदता है।