आईएस जिहादियों ने 19 लड़कियों को िंजदा जलाया


मोसुल। बर्बर आतंकी संगठन आईएसआईएस की एक और रोंगटे खड़े करने वाली वारदात सामने आई है। इराक में आतंकी संगठन के लड़ाकों ने सेक्स से मना करने पर १९ यजीदी लड़कियों को लोहे के िंपजड़े में बंद कर आग से जलाकर मार डाला। जिहादी आतंकियों ने इस व्रूâर वारदात को सैकड़ों लोगों के सामने अंजाम दिया। बता दें कि इराक के मोसुल शहर में पहले भी इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने सेक्स स्लेव बनने से इनकार करने पर कई यजीदी लड़कियों को जलाकर मार डाला था। ऐसे में एक बार फिर इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया गया है। नॉदर्न इराक में आईएस के हमले के बाद अगस्त २०१४ में ४० हजार लोगों को विस्थापित होना पड़ा था। इसी दौरान बड़ी संख्या में यजीदी लड़कियों को गुलाम बना लिया गया था। इस वारदात के चश्मदीद ने बताया कि सैकड़ों लोग देखते रहे और १९ यजीदी लड़कियों को लोहे के िंपजड़ें में बंद कर जला दिया गया। इस व्रूâर सजा से उन्हें बचाने के लिए कोई कुछ नहीं कर पाया। नॉर्दर्न इराक से आईएस आतंकियों ने करीब तीन हजार लड़कियों को सेक्स स्लेव बनाने के लिए अगवा कर लिया था। स्थानीय लोगों और मिलिट्री सूत्रों के मुताबिक माउंट िंसजर इलाके में हजारों लोगों को पंâसाकर रखा गया था। यहीं बड़े पैमाने नरसंहार और गैंगरेप को अंजाम दिया गया। आईएस आतंकियों ने इस्लाम कबूलने और सेक्स स्लेव बनने से इनकार करने पर उन्हें शैतान का पुजारी बताकर कत्ल किया था।