‘अरबपतियों की राजधानी’ बना बीिंजग, न्यूयार्वâ को छोड़ा पीछे


बीिंजग। चीन की राजधानी बीिंजग अब दुनिया में अरबपतियों की नई राजधानी बन गई है। उसने इस मामले में अमेरिकी शहर न्यूयार्वâ को पीछे छोड़ दिया है। शंघाई की मासिक पत्रिका हुरन का प्रकाशन करने वाली वंâपनी के अनुसार चीन की राजधानी ने ९५ अरबपतियों के मुकाबले १०० का आंकड़ा हासिल कर न्यूयार्वâ को पछाड़ दिया है। यह अध्ययन उन रपटों के कुछ महीनों बाद आया है, जिसमें कहा गया है कि चीन में अरबपतियों की संख्या अब अमेरिका से अधिक है। इसमें इस बात का उल्लेख किया गया है कि चीन के अमीर लोग शेयर बाजार में जोरदार गिरावट और अर्थव्यवस्था में सुस्ती के बावजूद संपदा का सृजन कर रहे हैं।
हुरन के संस्थापक रूपर्ट होगेवर्पâ ने कहा कि उनकी संपदा की गणना १५ जनवरी के शेयर मूल्यों के हिसाब से की गई है, इस लिहाज से इसमें चीन के बाजार में पिछले छह माह के दौरान दर्ज ४० प्रतिशत गिरावट को शामिल किया गया है। पिछले साल बीिंजग के अरबपतियों की सूची में ३२ नए दौलतमंद शामिल हो गए। इस वजह से यह शहर दुनिया के अरबपतियों की राजधानी के रूप में उभरा है। इसके मुकाबले ’’बिग एप्पल’’ नाम से मशहूर न्यूयॉर्वâ के अरबपतियों की सूची में केवल चार अमीर शामिल हुए हैं। हुरून यह रिपोर्ट हर साल जारी करती है। इस रिपोर्ट के अनुसार बीिंजग ने यह बढ़त केवल एक फीसद से हासिल की है। रूस की राजधानी मॉस्को पहले की तरह ही अपने ६६ अरबपतियों के साथ तीसरे स्थान पर काबिज है। जबकि चीन का हांगकांग और शंघाई शहर अरबपतियों के लिहाज से चौथे और पांचवें नंबर पर है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अब चीन में अरबपतियों की संख्या अमेरिका से ज्यादा हो गई है। रिपोर्ट से यह बात भी सामने आई है कि चीन के लड़खड़ाते शेयर बाजार और सुस्त हो रही अर्थव्यवस्था के बावजूद रईस दोनों हाथों से दौलत बटोर रहे हैं।