अमेरिकी पुलिसकर्मी के बलप्रयोग से भारतीय लकवाग्रस्त


वॉिंशगटन। अमेरिका में एक पुलिसकर्मी ने कई घरों के गैराजों में ताकझांक करने वाले एक “संदिग्ध व्यक्ति” के बारे में सूचना मिलने के बाद एक व्यक्ति को नीचे गिरा दिया जिससे वह आशिक रूप से लकवाग्रस्त हो गया। पीड़ित व्यक्ति की पहचान एक भारतीय नागरिक के रूप में हुई है।सूत्रों के अनुसार सुरेश भाई पटेल अलबामा के हंट्सविले में बसे अपने पुत्र चिराग पटेल के साथ रहने के लिए दो सप्ताह पहले अमेरिका आये थे। गत ६ फरवरी को वह सड़क के किनारे टहल रहे थे तब एक पुलिस कर्मी ने उन्हें रोका। पटेल अंग्रेजी नहीं जानते और वह अधिकारी के सवालों का जवाब नहीं दे पाए।
इस बीच उन्होंने अपना एक हाथ अपनी जेब में डाला।
पुलिसकर्मी को शिकायत मिली थी कि एक संदिग्ध व्यक्ति घूम रहा है और गैराजों में देख रहा है। इस तथ्य पर पुलिसकर्मी ने बल प्रयोग कर उन्हें नीचे गिरा दिया जिससे पटेल घायल हो गए। अब वह आंशिक रूप से लकवाग्रस्त हैं और एक अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है। पुलिसकर्मी को जांच पूरी होने तक प्रशासनिक अवकाश पर भेज दिया गया है। सूत्रों ने कहा है “मेडिसन पुलिस विभाग बल प्रयोग की घटनाओं को गंभीरता से लेता है और नीतिगत मामले के तौर पर उनकी समीक्षा करता है। इस घटना में बल प्रयोग किया गया और मामला जांच के लिए ऑफिस ऑफ प्रोपेâशनल स्टैंडर्ड के पास भेज दिया गया है।पटेल को पहले स्वास्थ्य संबंधी कोई समस्या नहीं थी। एक स्थानीय अटॉर्नी चिराग की ओर से मेडिसन पुलिस के खिलाफ मुकदमा चलाने की योजना बना रहे हैं। हंट्सविले में इंजीनियर चिराग पटेल ने बताया उनके पिता नियमित दिनचर्या के अनुसार टहल रहे थे जो केवल गुजराती और हिन्दी बोलते हैं।