अमेरिका में भीषण बर्फीले तूफान, घरों की बिजली गुल


वाशिंगटन। अमेरिका में आए भीषण बर्फीले तूफान ने राजधानी वािंशगटन सहित देश के पूर्वी तट के अधिकतर हिस्से को प्रभावित किया है। इस तूफान में रिकॉर्ड ३० इंच तक की बर्पâबारी की संभावना है। इस तूफान के चलते लाखों घरों से बिजली गुल हो गई । लाखों लोगों का जीवन बुरी तरह प्रभावित हो गया है। वािंशगटन डीसी के अलावा इस तूफान से उत्तर वैâरोलाइना, टेनेसी, मैरीलैंड, वर्जीनिया, फिलाडोqल्फया, न्यू जर्सी और न्यूयार्वâ प्रभावित हुए हैं। बर्पâ के इस भयंकर तूफान ने तेज हवाओं के साथ क्षेत्र में कई इंच मोटी बर्पâ बरसानी शुरू कर दी।
इस बर्फीले तूफान के कारण रिकार्ड ३० इंच की बर्पâबारी की आशंका के चलते वािंशगटन डीसी और क्षेत्र के छह अन्य राज्यों में आपातकाल की घोषणा कर दी गई है। वािंशगटन की मेयर एम ई बाउजर ने कहा कि ऐसी भविष्यवाणी की है, जो हमने पिछले ९० साल में नहीं की। यह िंजदगी और मौत का मामला है और कोलंबिया के सभी निवासियों को इसे इसी तरह से लेना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि डिस्ट्राqक्ट नेशनल गाडर्स को डयूटी पर लगाया गया है ।
नेशनल वेदर र्सिवस ने कहा, भारी बर्पâबारी और तेज हवाओं के कारण बहुत कम दश्यता वाली ाqस्थतियां पैदा होने सेयात्रा करना बहुत खतरनाक हो जाएगा। नेशनल वेदर र्सिवस के अनुसार, यह बर्फीला तूफान ३६ घंटे तक जारी रह सकता है और कुछ स्थानों पर दो पुâट से ज्यादा बर्पâ गिर सकती है।
भारी बर्पâबारी, तेज हवाओं और बिजली गिरने का खतरा है। तूफान से कल शाम को बड़ी संख्या में दुर्घटनाएं हुर्इं। वर्जीनिया की पुलिस ने ८०० से ज्यादा यातायात दुर्घटनाओं की जानकारी दी। स्थानीय सरकारों ने क्षेत्र में बड़ी सड़कों और राजमार्गों से बर्पâ हटाने के लिए गाडियों और नमक के ट्रकों का इंतजाम किया है। नार्थ अमेरिकन तेलुगू असोसिएशन ने समुदाय ने सदस्यों से अपील की है कि वह घरों के अंदर ही रहें और सुरक्षा के लिए हर ऐहतिहात बरतें। वर्जीनिया में बड़ी संख्या तेलुगू निवासी है। बड़ी संख्या में मंदिरों, गुरूद्वारों और अन्य पूजाघरों ने र्आिथक रूप से कमजोर लोगों को शरण देने में सहायता कर रहे हैं।