अमेरिका पर हमले की क्षमता विकसित करने संबंधी उ. कोरिया का दावा


सोल। उत्तर कोरिया ने दावा किया कि उसने अंतर-महाद्वीपीय बैलिाqस्टक मिसाइल (आईसीबीएम) के लिए डिजाइन किए गए एक इंजन का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है, जिससे उसे अमेरिकी भूभाग पर परमाणु हमला करने की क्षमता हासिल हो गई है। एक समाचार एजेंसी के हवाले से शनिवार को दी गई इंजन के जमीनी परीक्षण की खबर में अगर सच्चाई है, तो यह उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम की दिशा में एक बड़ा कदम होगा और यह इस साल की शुरुआत में उसका चौथा परमाणु परीक्षण होगा। बहरहाल, उत्तर कोरिया अमेरिकी भूभाग पर परमाणु मिसाइल दाग सके, इससे पहले उसे अभी बहुत काम करने की जरूरत है। दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने बताया कि उत्तर कोरिया के पास अभी तक कोई विश्वसनीय अंतर-महाद्वीपीय बैलिाqस्टक मिसाइल नहीं है। उत्तर कोरिया की आधिकारिक समाचार एजेंसी ने इस परीक्षण की घोषणा की थी, जो देश के परीक्षणों की कड़ी में ताजा घटना है। अमेरिका और उसके सहयोगी उत्तर कोरियाई की इस कार्रवाई को उकसावे वाला कार्य मानते हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने उत्तर कोरिया की किसी भी बैलिाqस्टक गतिविधियों पर रोक लगाई है, जिसका उ¼ंघन करते हुए उत्तर कोरिया ने पिछले महीने ही मध्यम-दूरी की बैलिाqस्टक मिसाइल का प्रक्षेपण किया था। वर्ष २०१४ के बाद उत्तर कोरिया का यह पहला मध्यम-दूरी का मिसाइल प्रक्षेपण था। अमेरिका में विदेश विभाग के प्रवक्ता मार्वâ टोनर ने उत्तर कोरिया से ‘इस तरह की कार्रवाई से बचने और क्षेत्र को आqस्थर करने वाली बयानबाजी के बजाय अपनी प्रतिबद्धताओं एवं अंतरराष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करने की दिशा में ठोस कदम उठाने पर ध्यान वेंâद्रित करने’ को कहा। केसीएनए के अनुसार, उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन नई उपलाqब्ध से बेहद प्रसन्न हैं। बहरहाल, परीक्षण कब हुआ इस बारे में नहीं बताया गया। एजेंसी ने किम के हवाले से कहा है कि अब उत्तर कोरिया अपने हमला क्षेत्र से अपने शत्रुओं पर और अधिक शक्तिशाली परमाणु हथियारों से लैस नए तरह के अंतर महाद्वीपीय बैलिाqस्टक रॉकेट हमले कर सकता है तथा इस ब्रह्मांड में उनका नामोनिशान मिटाते हुए उन्हें खाक में मिला सकता है।