अमेरिका चुनाव प्रचार में सद्दाम की तारीफ पर उम्मीदवारों के बीच आरोप-प्रत्यारोप


वॉिंशगटन। अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव प्रचार में इन दिनों इराक के पूर्व राष्ट्रपति सद्दाम हुसैन का मुद्दा छाया है। सद्दाम को लेकर रिपब्लिकन पार्टी के संभावित उम्मीदवार डोनाल्ड ट्रंप ने तारीफ की थी। इस तारीफ के बाद हिलेरी क्ंिलटन की तरफ से आलोचना शुरू हो गई। हिलेरी ने टिप्पणी को खतरनाक की श्रेणी में दर्शाया गया है।
जानकारी के अनुसार यह तारीफ उत्तरी वैâरोलीना में एक चुनावी रैली के दौरान ट्रंप की ओर से की गई थी। इसके बाद सुलीवान ने कहा, व्रूâर दबंगों की तारीफ की डोनाल्ड ट्रंप की कोई सीमा नहीं है। उन्होंने कहा कि ट्रंप ने चीन द्वारा तियानानमेन चौक जनसंहार में दिखाई गई सख्ती की तारीफ की, किम जोंग उन द्वारा उत्तर कोरिया में घातक ढंग से शक्ति के केन्द्रीकरण की सराहना की और वह लगातार व्लादिमीर पुतिन की तारीफ करते आए हैं। सुलीवान ने कहा, आज रात, ट्रंप ने एकबार फिर सद्दाम हुसैन को आतंकियों का महान हत्यारा बताते हुए उसकी तारीफ की है। ट्रंप ने इस बात को अपनी ओर से एक तरह से मंजूरी भी दी कि सद्दाम किसी को भी उसके अधिकारों के बारे में पढ़ने नहीं देता था। सुलीवान ने कहा, ट्रंप की ओर से व्रूâर तानाशाहों के बारे में बेपरवाह ढंग से की गई तारीपेंâ और इतिहास से उनके द्वारा सीखे गए विकृत सबक एक बार फिर यह दिखाते हैं कि वह कमांडर इन चीफ के रूप में कितने खतरनाक साबित हो सकते हैं और वह इस पद के लिए कितने अयोग्य हैं। ट्रंप ने एक रैली के दौरान सद्दाम की निष्ठुरता की तरीफ करते हुए कहा था कि उसने आतंकियों को मारा..`बहुत अच्छा’। ट्रंप ने कहा, `सद्दाम हुसैन एक बुरा आदमी था..वाकई बुरा आदमी। लेकिन क्या आप जानते हैं, उसने अच्छा काम किया था। उसने आतंकियों को मारा। उसने यह बहुत अच्छा किया। वे उन्हें उनके अधिकार भी नहीं पढ़ने देते थे। वे बात नहीं करते थे। वे आतंकी थे। बस बात खत्म। आज इराक आतंकवाद का हार्वर्ड बन गया है।’ ट्रंप के अपने नेताओं ने भी उनके साथ सहमति नहीं जताई।