अमेरिका की राजनीति में धन बल के खिलाफ हुए प्रदर्शन में 1200 लोगों की गिरफ्तारी


वािंशगटन। अमेरिका की राजनीति में धन बल के खिलाफ लोगों का गुस्सा जारी है। यहां लगातार आठ दिनों से प्रदर्शन जारी है। अब तक प्रशासन १२०० लोगों की गिरफ्तारी कर चुका है। आयोजकों का दावा है कि यह संख्या ओर अधिक बढ़ेगी। प्रदर्शन में अभिनेता, बुद्धिजीवी से लेकर कई अन्य हस्तियां शामिल थीं।
जानकारी के अनुसार प्रदर्शन के अंतिम दिन सोमवार को समूचे देश से हजारों लोगों ने भाग लिया। पुलिस ने अधिकांश लोगों को अवैध रूप से भीड़ इकट्ठा करने और मार्गो में बाधा उत्पन्न करने के आरोप में गिरफ्तार किया। लेकिन कुछ ही देर बाद इन लोगों को छोड़ दिया गया। इन प्रदर्शनकारियों में अभिनेत्री रोसारियो डॉसन और हार्वर्ड लॉ स्वूâल के प्रोपेâसर लैरी लोqस्सग भी शामिल रहे, जिन्हें शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया था। विरोध प्रदर्शन के दौरान ये लोग ‘मनी आउट, पीपल इन’ जैसे नारे लगा रहे थे। अपने विरोध प्रदर्शन में इन लोगों ने निष्पक्ष मतदान की राह में अड़चन पैदा करने वाले कानूनों की भी िंनदा की। साथ ही अमेरिकी कांग्रेस से ऐसा कानून पारित करने का आग्रह किया, जिससे चुनावों में शामिल सभी अमेरिकी लोगों के मतदान में निष्पक्षता बन सके। इनमें से कई लोगों ने सुप्रीम कोर्ट के नागरिक संयुक्त मामले में साल २०१० के पैâसले का भी विरोध किया, जिसको लेकर धारणा है कि इसने अमेरिका की नई पॉलिटकल एक्शन कमिटी (पीएसी) के उदय के दरवाजे खोल दिए थे। एक प्रदर्शनकारी ने बताया, हमारा लोकतंत्र बड़े विचारों वाला होना चाहिए, बड़ी रकम के चेकों वाला नहीं। डेमोव्रेâटिक राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बर्नी सैंडर्स ने भी कहा है कि अमेरिका की राजनीतिक प्रक्रिया में धनी व्यक्तियों ने अरबों डॉलर झोंक दिए हैं।