अब आसमान में चमकेगा मलाला का नाम


वाश्ािंगटन।नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसु़फ़जई के नाम पर एक तारा का नाम रखा गया है।ये एस्टेरॉइड आकार में चार किलोमीटर की परिधि का है।`मलाला एस्टेरॉइड’ मंगल और बृहस्पति ग्रहों की मुख्य एस्टेरॉइड शृंखला में ाqस्थत है और सूर्य की परिक्रमा पूरा करने में साढ़े पाँच साल का समय लेता है।इस एस्टेरॉइड की खोज साल २०१० में अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की एमी मेऩ्जर ने की थी, अब तक इसे ३१६२०१ के नाम से जाना जाता था।अत्तूâबर २०१२ में पाकिस्तान की स्वात घाटी में एक स्वूâल बस में जा रही मलाला को गोली मार दी गई थी।मलाला पहली बार र्सुिखयों में वर्ष २००९ में आर्इं जब ११ साल की उम्र में उन्होंने तालिबान के साए में िं़जदगी के बारे में गुल मकाई नाम से बीबीसी उर्दू के लिए डायरी लिखना शुरू किया।